फसल से फूल & फल झड़ने से बचाने के उपाय यहाँ पढ़ें!

फसल से फूल & फल झड़ने से बचाने के उपाय यहाँ पढ़ें!

नमस्कार किसान भाइयो आज के लेख में हम आपको फसल से फूल और फल झड़ने से बचाने के उपाय के बारे में चर्चा करने वाले है। जब फूलो और फलों के पौधे लगाए जाते हैं,तो उद्देश्य होता है कि उन पौधो एवं फसलों में ज्यादा मात्रा में फल एवं फूल आए और पैदावार अच्छी हो और उतना ही जरूरी हो जाता है, की सभी फूल से फल बने और परिपक्व हो लेकिन कभी कभी फूल और फल परिपक़्व होने से पहले ही झड़ जाते है ,और इसी समस्या के निवारण के बारे में जानेंगे। 

फूलगोभी और पत्ता गोभी के कीट एवं रोग के नियंत्रण के टिप्स जानें!

फसल से फूल और फल झड़ने से बचाने के उपाय

आइये किसान भाइयो फसल से फूल और फल झड़ने से बचाने के उपाय के बारे में जानने से पहले हम फूल और फल के झड़ने के कारणों के बारे में जानते है। अब देखते है कुछ बिन्दुओ पर - 

पोषक तत्वों की कमी - कई बार हम फसल की खेती अच्छे से करते है। लेकिन सही मात्रा में खाद और उर्वरक का उपयोग नहीं करते है क्योकि सफल खेती के लिए 15 पोषक तत्वों की जरुरत पड़ती है। लेकिन हम नाइट्रोजन,फॉस्फोरस और पोटैसियम का ही उपयोग करते है। कभी-कभी इनका भी पर्याप्त मात्रा पौधे को नहीं देते है। जिस कारन सही समय पर फूल और फल नहीं आते है या आते भी है तो असमय ही सुखकर गिर जाते है। इसलिए सभी पोषक तत्व फसल को देना चाहिए। 

पानी की कमी - कभी कभी पर्याप्त जल की कमी के कारण पौधे पोषक तत्वों को भूमि से अपनी जड़ों के द्वारा आसानी से अवशोषित नहीं कर पाते जिसके कारण फूलों व फलों में कई प्रकार के तत्वों की कमी हो जाती है और फल और फूल गिरने लगते है।कई बार ऐसा भी देखा गया है की ज्यादा दिनों के अंतराल के बाद पानी देने से भी फूल और फल झड़ने की समस्या देखने को मिलती है। 

अनुकूल वातावरण न मिलना - कभी कभी वातावरण में अचानक बदलाव होने की वजह से भी फूल और फल गिरने की समस्या देखने को मिलती है। जिसमे तापमान का अधिक होना या कम होना अथवा वायुमंडल में हवा में नमी कम हो जाना या बढ़ जाना,आद्रता कम या ज्यादा होने से वाष्पोत्सर्जन की क्रिया का बढ़ना या घटना भी फसल से फूल और फल झड़ने का कारन होता है। कम नमी वाले सूखे क्षेत्रों में फल झड़ने की संभावना अधिक रहती है और तेज हवा ओले आदि के कारण भी फल व फूल झड़ जाते हैं।

टमाटर के अगेती एवं पछेती झुलसा रोग का नियंत्रण करें!

विभिन्न कीटो के द्वारा - कई बार खड़ी फसलों पर विभिन्न प्रकार के कीट एवं सूक्ष्मजीवों के सक्रमण के होने से पौधों से फल एवं फूल झड़ने लगते हैं। तो इसलिए फसल का कीटो से रखरखाव रखना चाहिए। 

उचित हॉर्मोन्स का आभाव - अधिकतर पौधों में ऑक्सिन, एसिटिक एसिड, इथाईलीन का स्तर का संतुलन बिगड़ने की भी वजह से भी फसल से फूल और फल झड़ने लगते है

कार्बोहाइड्रेट के निर्माण में कमी -  जिंतनी भी फसलों को उगाते है उनमे फलों को बनने और उन को विकसित होने के लिए कार्बोहाइड्रेट की ज्यादा मात्रा की जरूरत होती है और अगर पौधों में कार्बोहाइड्रेट का स्तर कम होता है तो फलों के झड़ने की समस्या अधिक होने लगती है। 

फसल से फूल & फल झड़ने से बचाने के लिए आवश्यक उत्पाद

यदि आप भी अपनी फसल से फूल & फल झड़न की समस्या से परेशान हैं, तो निम्न कृषि उत्पादों का प्रयोग करके अपनी फसल को बचा सकते हैं, साथ ही इन उत्पाद को आप घर बैठे फ्री होम डिलीवरी पर मार्केट से कम रेट में खरीद सकते हो।

प्रोडक्ट का नाम

मार्केट रेट

भारतॲग्री रेट

जिओलाइफ नॅचरल कॅब 150 gm

₹795

₹723

जियोलाइफ फ्लॉवर किट (51 gm)

₹760

₹750

बायोप्राइम वर्दांत (1+1 Free)

₹700

₹299

 

आइये किसान भाइयो फसल से फूल और फल झड़ने से बचाने के उपाय के बारे में जानने के बाद हम पौधों में फूल और फल के झड़ने की समस्या के निदान के बारे में देखते है कुछ बिन्दुओ पर - 

पोषक तत्वों का छिड़काव या बुरकाव करना -  पौधों में समय-समय पर पोषक तत्वों की पूर्ति के लिए छिड़काव या बुरकाव के माध्यम से खाद या उर्वरक की पूर्ति किया जाना चाहिए। और समय समय पर सड़ी गोबर की खाद या वर्मी कम्पोस्ट को खेतो में मिलाना चाहिए। इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की कुछ सूक्ष्म मात्रा में पोषक तत्वों जैसे - सल्फर,कैल्शियम,बोरोन ,ज़िंक,लोहा,मैगनीज और कॉपर की भी जरुरत पड़ती है और  उनकी भी पूर्ति पौधों को सही समय पर करानी चाहिए। 

सिंचाई का प्रबंधन - फसल में समय-समय पर सिचाई की आवश्यकता पड़ती है जो पौधो एवं फसलों में अच्छे उत्पादन के लिए बहुत जरुरी होता है, जिससे पौधो एवं फसलों वाले खेत में पर्याप्त मात्रा में नमी बनी रहे, ध्यान रहे जरूरत से ज्यादा सिंचाई भी फसलों में नुकसान दायी हो सकती है।

समय से जुताई एवं गुड़ाई - इस बात का ध्यान रखना चाहिए की पौधो एवं फसलों में समय-समय पर जुताई व गुड़ाई, काट-छांट व गोबर की पकी हुई खाद या केंचुआ खाद आदि (Vermicompost) का इस्तेमाल समय पर किया जाना चाहिए ।

समय से कीट नियंत्रण  - पौधो एवं फसलों में सही समय पर कीट,रोग व खरपतवार अधिक मात्रा में हानि पहुंचाते हैं इसलिए समय समय पर कृषि विशेषज्ञो के परामर्श से उपचार करना चाहिए।

हार्मोन का संतुलन बनाए रखना - सामान्य तौर पर पौधो एवं फसलों में हार्मोन के असंतुलन के कारण भी फसल से फूल और फल झड़ने की समस्या अधिक नुकसान देती है इसलिए  हार्मोन का संतुलन बनाए रखने के लिए विभिन्न प्रकार के हॉर्मोन्स का छिड़काव करना चाहिए।

किसान भाइयो हम आशा करते है की फसल से फूल और फल झड़ने से बचाने के उपाय | Measures to prevent flower and fruit drop from the crop details in hindi के बारे में बताई गयी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी यदि आपको बताई गयी जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने आस-पास के किसान भाइयो को शेयर करे। धन्यवाद

कमेंट करें

बेस्ट रिजल्ट के लिए बेस्ट जोडी