tomato fertilizer schedule

tomato fertilizer schedule: जाने टमाटर में कौन सी खाद डालें

नमस्कार किसान भाइयों, आपका Bharatagri Krushi Dukan वेबसाइट पर स्वागत है। आज के लेख में हम टमाटर के लिए खाद  के प्रकार और उनके महत्व पर चर्चा करेंगे। हम गोबर खाद की उचित मात्रा का पता लगाएंगे, साथ ही बहाव और ड्रिप सिंचाई के माध्यम से कौन से खाद को लागू किया जाना चाहिए यह भी जान लेने वाले हैं।     


टमाटर में खाद डालना क्या जरूरी है? 

टमाटर में खाद डालना पौधों को आवश्यक पोषण प्रदान करता है, जिससे वे स्वस्थ और फलदार होते हैं। खाद में देखा जाए तो ऑर्गेनिक में गोबर खाद, नीम खली, केचुओं का खाद, रासायनिक खाद में प्राइमरी खाद नाइट्रोजन, फॉस्फोरस, पोटैशियम, सेकेंडरी खाद में मैग्नीशियम, कैल्शियम, सल्फर और सूक्ष्म पोषक तत्वों में मिक्रोनुट्रिएंट्स जैसे पोषक तत्व होते हैं, जो पौधों के विकास और फलों की गुणवत्ता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। सही मात्रा में खाद डालने से टमाटर के पौधे स्वस्थ और सुगत रहते हैं, और उनका उत्पादन भी बेहतर होता है।


टमाटर में ऑर्गेनिक खाद कौन से  डालें? 

👉बुआई से 20 दिन पहले

गोबर खाद 3 टन अथवा केचुओं का खाद - 2 टन + कम्पोस्टिंग बैक्टीरिया 1 लीटर + मेटाराइजियम 2 किलो + ट्राइकोडर्मा 2 किग्रा/एकड़ मिलाएं  और रोटावेटर को पूरे खेत में चलाकर मिट्टी में खाद अच्छी तरह से मिक्स करें। 

👉रोपाई के 30 दिन बाद - 

एनपीके बैक्टीरिया 1 लीटर + स्यूडोमोनास फ्लोरोसेंट 1 लीटर/एकड़ ड्रेंचिंग


टमाटर में रासायनिक खाद कौन से डालें? 

नीचे पॉइंट में tomato fertilizer schedule के बहाव और ड्रिप खाद की जानकारी दी गई है।   

👉बहाव से देने वाले खाद - 


1. बेसल डोज  - 

नीम खली -200 किग्रा + डीएपी 37 किग्रा + एमओपी 28 किग्रा + यूरिया 59 किग्रा + सल्फर 12 किग्रा + एमजी सल्फेट 5 किग्रा + सूक्ष्म पोषक तत्व - 5 किग्रा + कार्बोफ्यूरान 5 किग्रा / एकड़

2. रोपाई के 35 दिन बाद - 

डीएपी 40  किग्रा + एमओपी 50  किग्रा + यूरिया 40 किग्रा/एकड़

3. रोपाई के 55 दिन बाद - 

डीएपी 37 किग्रा + एमओपी 50 किग्रा + यूरिया 30 किग्रा + एमजी सल्फेट 5 किग्रा/एकड़


👉ड्रिप से देने वाले खाद - 

किसान भाइयों जब आप प्लाट में ड्रिप माध्यम से खाद देना चाहतें हो तो रोपाई के पहले बेसल डोज दे। और ड्रिप से बाकी खाद ह्यूमिक एसिड - 500 ग्राम/ एकड़ और मैग्नेशियम सल्फेट - 5 किलो, फेरस सल्फेट - 5 किलो और मिक्रोनूट्रिन्टस - 5 किलो/ एकड़ यह खाद 25 से 30 दिन में एक बार देना।  


1. बेसल डोज  - 

नीम खली -200 किग्रा + डीएपी 75 किग्रा + एमओपी 50  किग्रा + सल्फर 12 किग्रा + एमजी सल्फेट 5 किग्रा + सूक्ष्म पोषक तत्व - 5 किग्रा + कार्बोफ्यूरान 5 किग्रा / एकड़


2. टमाटर के लिए उर्वरक खाद नीचे चार्ट में दिए गए है।  

पौधे की अवस्था 

दिन 

उर्वरक खाद 3 से 5 किग्रा/एकड़ 

शाखीय अवस्था 

5 से 30 दिन 

19:19:19 

12:61:00

13:00:45 

फूल आने की अवस्था 

35 दिन बाद

12:61:00

13:00:45 

फल विकास 

50 दिन बाद

00:52:34

13:00:45

फलों की परिपक्वता और कटाई

70 दिन बाद

00:52:34

00:00:50

Conclusion | सारांश -

किसान भाइयों हमें उम्मीद है की tomato fertilizer schedule से सम्बंधित यह लेख आपको पसंद आया होगा। यदि आपको टमाटर में कौन सी खाद डालें  इस सम्बंधित कुछ सुझाव या प्रश्न हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। साथ ही इस लेख को अपने अन्य किसान दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। खेती संबधित अन्य जानकारी को पढ़ने या फिर समझने के लिए हमारे भारतअग्री कृषि दुकान के साथ जुड़ें रहे।

 

टमाटर खाद इस सम्बंधित अक्सर पूछे जानें वाले प्रश्न/ FAQ -


1. टमाटर की सबसे अच्छी खाद कौन सी है?

जवाब - गोबर खाद अथवा केचुओं का खाद टमाटर के लिए सबसे अच्छा है।

2. टमाटर के फल का साइज कैसे बढ़ाएं?

जवाब - टमाटर के फल का साइज बढ़ाने के लिए पोटाश या 00:00:50 का उपयोग करें। 

3. टमाटर की ग्रोथ के लिए क्या करें?

जवाब - टमाटर की ग्रोथ के लिए 19:19:19 और 12:61:00 अथवा DAP(18:46:00) का उपयोग करें। 

4. टमाटर के पौधों को कितनी बार खाद देनी चाहिए?

जवाब - टमाटर बहाव से है तो 3 बार खाद दे और ड्रिप से है तो जब तक फल निकलते हैं तब तक उर्वरक खाद दे। 

5. टमाटर के लिए उर्वरक खाद कौन सी है?

जवाब - टमाटर के लिए 19:19:19,12:61:00,13:00:45, 00:52:34, 00:00:50 यह उर्वरक खाद देने चाहिए।  


इन्हे भी पढ़ें -

1. टमाटर के पछेती झुलसा का संपूर्ण नियंत्रण

2. NPK 19 19 19: एनपीके 19 19 19 खाद का उपयोग, फायदे और कीमत

3. भिंडी के प्रमुख रोग और कीट - यहाँ जानें Okra के Major Diseases & Pests नियंत्रण टिप्स

4. गन्ने में कौन सी खाद डालें - यहाँ पढ़ें Sugarcane के खाद प्रबंधन की जानकारी!

5. FMC कोराजन से करें फसल की फली छेदक का नियंत्रण - यहाँ जानकारी पढ़ें!



लेखक

भारतअग्रि कृषि एक्सपर्ट

Back to blog

Leave a comment

Please note, comments need to be approved before they are published.


होम

वीडियो कॉल

VIP

फसल जानकारी

केटेगरी