🌱मटर की खेती - 1 एकड़ मे 60 क्विंटल उत्पादन निकालने का फार्मूला👌

🌱मटर की खेती - 1 एकड़ मे 60 क्विंटल उत्पादन निकालने का फार्मूला👌

 

👨‍🌾नमस्कार किसान भाइयों ! 🙏

🌱भारतअ‍ॅग्री मे आपका स्वागत है 💐

✅आजका विषय - 🌱मटर की खेती - 1 एकड़ मे 60 क्विंटल उत्पादन निकालने का फार्मूला👌

✅मटर की उन्नत खेती कैसे करे ,उसकी सम्पूर्ण जानकारी -
👉किसान भाइयो मटर ठंडे मौसम की फसल है जो भारत में व्यापक रूप से उगाई जाती है मटर का उपयोग आहार में दाल व सब्जी के रूप में किया जाता है. जिसकी अगेती खेती करके आप अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं
👉मटर की खेती से कम समय में पैदावार प्राप्त की जा सकती है आजकल तो बाजार में साल भर मटर को संरक्षित कर बेचा जाता है। सब्जी की मटर की खेती के लिए अक्टूबर-नवंबर माह का समय उपयुक्त होता है।
👉भारत में प्रमुख हरी मटर उत्पादन राज्य:- कर्नाटक, मध्य प्रदेश, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, पंजाब, असम, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, बिहार और उड़ीसा है।

✅मटर की खेती के लिए उपयुक्त भूमि और मिट्टी -
👉मटर की खेती विभिन्न प्रकार की मृदाओं में की जा सकती है,लेकिन फिर भी इसके लिए गहरी दोमट मिट्टी (जिसका PH 6-7.5) अधिक उपजाऊ मानी जाती है।
👉खरीफ फसल की कटाई के पश्चात एक गहरी जुताई कर पाटा चलाकर उसके बाद दो जुताई कल्टीवेटर या रोटावेटर से करके खेत को समतल और भुरभुरा तैयार कर लेना चाहिए।
👉मटर की अच्छी उपज प्राप्त करने के लिए भूमि में जलनिकास की उचित व्यवस्था होनी चाहिए।
मटर की खेती के लिए 15-30°C तापमान उचित माना जाता है

✅मटर की खेती के लिए प्रमुख किस्मे -
👉Advanta Golden (UPL ) - Pea GS10
👉Pahuja - Pea (PS - 1100 )
👉Shine Seeds - SS10 (Imported)
👉Ajeet Seeds - AS-101
👉Hyveg -Goldee

✅मटर की बुआई
मटर की अच्छी उपज प्राप्त करने के लिए अक्तूबर के अंत से मध्य नवंबर के बीच बिजाई पूरी कर लेंनी चाहिए

✅ प्रति एकड़ बीज की मात्रा -
10 - 12 किलोग्राम / एकड़

✅बीजोपचार -
बीज को बुआई के पूर्व फफूंदीनाशक वीटावैक्स पॉवर 3 ग्राम दवा प्रति किलो बीज की दर से उपचारित करें। इसके पश्चात एक किलो बीज में राइजोबियम कल्चर 4-5 मिली तथा ट्राइकोडर्मा विरडी 2 - 3 मिली मिलाकर उपचारित करें।


✅बुआई की विधि -
मटर की बुवाई मशीन से मेंड़ बनाकर करें जोकि 60 सैं.मी. चौड़ी होती हैं तथा बीज को मिट्टी में 2-3 सैं.मी. गहराई पर बोये । और दूरी अगेती किस्मों के लिए 30cm. x 50 cm. और पिछेती किस्मों के लिए 45-60 cmx 10 cm.फासले का प्रयोग करें।

✅उर्वरक प्रबंधन -
खेत की तैयारी करते समय 2 - 3 टन अच्छी सड़ी हुई गोबर की खाद ले और उसमे 1 लीटर कम्पोस्टिंग बैक्टीरिया मिलाकर खेत में डालें।
10:30:20 किलो एन.पी.के. रासायनिक खाद प्रति एकड़ का उपयोग बुआई के समय करें.

✅खरपतवार नियंत्रण -
बीज के अंकुरण के पहले स्‍टॉम्‍प (पेंडीमेथालिन 30% ईसी) 1 लीटर - 200 लीटर पानी में घोल बनाकर एक एकड़ खेत में छिड़काव करे।
पहली निराई-गुड़ाई बुआई के 30-35 दिनों बाद तथा दूसरी 55-60 दिनों बाद आवश्यकतानुसार करें।

✅फसल की सिंचाई -
अच्छे अंकुरण के लिए बिजाई से पहले सिंचाई जरूर करनी चाहिए। बिजाई के बाद एक या दो सिंचाई की आवश्यकता होती है। पहली सिंचाई फूल निकलने से पहले और दूसरी फलियां भरने की अवस्था में करें। भारी सिंचाई से पौधों में पीलापन बढ़ जाता है और उपज में कमी आती है।

✅मटर की बीमारी -
1️⃣उखटा / मर / विल्टिंग रोग -
इस बीमारी का प्रकोप फसल की अंकुरण अवस्था में या जब फसल बड़ी हो जाती है तब होता है. इस रोग की वजह से पौधे पिले होकर सूखने लगते है, जिससे हमें उत्पादन 30 - 40 % कम निकलता है
👉नियंत्रण - बीज की बुवाई से पहले बीजोपचार करे, ज्यादा समस्या देखने पर रोको थियोफानेट मिथाइल 70% WP 400 ग्राम प्रति एकड़ छिड़काव करे

✅मटर के कीट -

1️⃣फली छेदक सूँडी:- यह कीट फलियों में बन रहे हरे बीज/दानों को खा कर नष्ट कर देती हैं.इस कीड़े की सूँडी प्यूपा बनने तक लगभग 30-40 % फलियाँ खा जाती हैं.
👉नियंत्रण - इमेमेक्टिन बेंजोएट 5% एसजी EM 1 - 100 gm प्रति एकड़ या फिर क्लोरेंट्रानिलिप्रोल 18.5% w/w कोराजन 60 -80 मिली प्रति एकड़ छिड़काव करे।

आपको यह वीडियो 📷कैसा लगा यह हमें कमेंट में बताना न भूलें , और इस वीडियो को अपने अन्य 🧑‍🌾किसान मित्रों के साथ भी जरूर शेयर करें👍

✅हमारे अन्य सोशल मीडिया पेजेस -

👉भारतअ‍ॅग्री ऍप - http://bit.ly/2ZyV2yl
👉भारतअ‍ॅग्री कृषि दुकान - https://krushidukan.bharatagri.com/
👉फेसबुक हिन्दी - https://bit.ly/36KuGOe
👉फ़ेसबुक मराठी - https://bit.ly/36KuGOe
👉इंस्टाग्राम - https://bit.ly/3B9Ny8G
👉वेबसाइट - www.bharatagri.com
👉लिंक्ड इन - https://bit.ly/3TWtK0Z
👉भारतअ‍ॅग्री मराठी यूट्यूब चैनल - https://bit.ly/3Ryf3zt
👉भारतअ‍ॅग्री हिन्दी यूट्यूब चैनल - https://bit.ly/3L2cRxF

#bharatagri #agriculture #hindi #farming #bharatagrihindi #kisan #kheti #fasal

कमेंट करें