npk 0 52 34

npk 0 52 34: जाने उपयोग, फायदे और कीमत के बारें में संपूर्ण जानकारी

किसान भाइयों नमस्कार, स्वागत है BharatAgri Krushi Dukan वेबसाइट पर आज हम जानेंगे npk 0 52 34 खाद की सम्पूर्ण जानकारी। जानकारी जैसे की इसका फसल में महत्व और फायदे, इसकी कीमत कितनी है? और इसका इस्तेमाल का तरीका क्या है? इसलिए मेरी आपके एक बिनती है की कृपया इस लेख (ब्लॉग) को पूरा पढ़ें और जानकारी पसंद आने पर इसे आपके अन्य किसान दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

npk 0 52 34

NPK 0 52 34 क्या है? 

NPK 0-52-34 एक प्रकार की खाद है जिसमें नाइट्रोजन (N), फॉस्फोरस (P), और पोटैशियम (K) के तत्वों की मात्रा दी जाती है। यह खाद की विशेष मात्रा होती है और फसलों के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। निम्नलिखित तत्वों की मात्रा इस खाद में होती है:

1. नाइट्रोजन (N): 0%

2. फॉस्फोरस (P): 52%

3. पोटैशियम (K): 34%

यह खाद उच्च पोटैशियम सामग्री के साथ आती है, जिसका मतलब है कि इसमें पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है। पोटैशियम फसलों के प्रतिरक्षण शक्ति को बढ़ावा देता है और फसलों की स्थिरता में मदद करता है, जिससे वे संकटकारी परिस्थितियों का सामना कर सकती हैं।

एनपीके 0-52-34 खाद का उपयोग फसलों की गुणवत्ता में सुधार करने, फलने-फूलने की प्रोत्साहन करने, फलों की गुणवत्ता को बढ़ाने, बीज उत्पादन को बढ़ावा देने, और पौधों की सुरक्षा में मदद करने के लिए किया जाता है। यह खाद सही मात्रा में और सही समय पर प्रयोग करने से फसलों की उन्नति में मदद कर सकती है।


npk 0 52 34 का फसल में महत्त्व -

1. फसलों की गुणवत्ता में सुधार: NPK 0:52:34 खाद में पोटैशियम की अधिक मात्रा होती है, जो फसलों की गुणवत्ता को बढ़ावा देती है। यह फसलों को अधिक विकसित और स्वस्थ बनाने में मदद करता है.

2. फलने-फूलने की प्रोत्साहन: पोटैशियम के प्रमुख स्रोत के रूप में npk 0 52 34 खाद का उपयोग फलने-फूलने की प्रोत्साहन के लिए किया जा सकता है। यह फसलों के फूलने, फलने, और बीज उत्पादन में मदद करता है.

3. फलों की गुणवत्ता को बढ़ाने: NPK 0:52:34 खाद फलों की गुणवत्ता को बढ़ाने में मदद करता है, जिससे उनकी रंगत, स्वाद और सांठापन में सुधार होता है।

4. बीज उत्पादन को बढ़ावा देने: यह खाद बीज उत्पादन को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह बीजों की अच्छी उत्पादन करने में मदद करता है और उनकी उच्च गुणवत्ता को सुनिश्चित करता है.

5. पौधों की सुरक्षा में मदद: पोटैशियम पौधों की सुरक्षा में मदद करता है और उन्हें पोषक तत्वों की कमी, रोगों और कीटों  से बचाने में सहायक होता है।

6. जल संतुलन में मदद: पोटैशियम पौधों के जल संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है और उन्हें जलीय अवशोषण से बचाता है।

7. शुष्कता प्रतिरक्षण: npk 0 52 34 खाद फसलों की शुष्कता प्रतिरक्षण शक्ति को बढ़ावा देता है, जिससे वे सूखे और अनुभवित जलवायु में भी अच्छे प्रदर्शन कर सकती हैं.

8. प्रतिरक्षण शक्ति में वृद्धि: पोटैशियम पौधों की प्रतिरक्षण शक्ति को बढ़ावा देता है, जिससे वे बीमारियों और कीट प्रभाव से बच सकती हैं.

9. उत्तम फल परिपक्वता: फलों की परिपक्वता को बढ़ावा देने के लिए NPK 0:52:34 का उपयोग किया जा सकता है, जिससे वे अधिक मीठे और स्वादिष्ट होते हैं।

10. विकास और उत्पादन: यह खाद पौधों के संपूर्ण विकास और उत्पादन  में मदद करती है और उन्हें स्वस्थ बनाए रखने में सहायक होती है।


npk 0 52 34 का‌ स्प्रे कब और कैसे करें ?

1. समय का चयन: NPK 00-52-34 का स्प्रे फसल की विशेष आवश्यकताओं और विकास चरण के आधार पर करना चाहिए। सामान्यत: इसका प्रयोग फसलों के फूलने और फलने की प्रक्रिया के पूर्व या इसके दौरान किया जाता है।

2. उपयोग की मात्रा: npk 0 52 34 का स्प्रे करते समय उपयोग की सही मात्रा महत्वपूर्ण है। सामान्यत: 1 किलो NPK 00-52-34 को 200 लीटर पानी में मिलाकर तैयार करें। ड्रिप से 3 से 4 किलो प्रति एकड़ के अनुसार उपयोग करें।  

3. पर्याप्त आवश्यकता: अपनी फसल की आवश्यकताओं के आधार पर सही अनुपात में तत्वों का संयोजन करें।

4. स्प्रे करने की तकनीक: स्प्रे करते समय सही तकनीक का पालन करें। एक पंप स्प्रे का प्रयोग करके समान दबाव बनाएं ताकि खाद का अच्छा स्प्रेड हो सके।

5. पूर्व संवेदनशीलता: स्प्रे करने से पहले पूर्व संवेदनशीलता की जांच करें। समुद्री पौधों और अन्य संरक्षित प्रजातियों के लिए खतरा न होने दें।

6. फसल की पूरी सुरक्षा: स्प्रे करते समय फसल की पूरी सुरक्षा बनाए रखें ताकि फसल पर कोई नकरात्मक प्रभाव न हो।

7. समय पर स्प्रे करें: नियमितता में स्प्रे करें ताकि फसल के विकास में सुधार हो सके।

8. पर्याप्त पानी का प्रयोग: स्प्रे के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी का प्रयोग करें ताकि खाद अच्छे से मिल सके।

9. प्रयोग के बाद संरचना की देखभाल: स्प्रे करने के बाद फसल की संरचना की देखभाल करें, जैसे कि फलों को सहारा देना या पौधों की स्थिति की जांच करना।

 

npk 0 52 34 खाद के फसलों में फायदें -

1. फसलों के रूपरेखा और रंग में सुधार होता है.

2. फूलने और फलने की प्रोत्साहन होती है.

3. फलों की गुणवत्ता और विशेष गुणों में वृद्धि होती है.

4. फलों की बेहतर स्टोरेज की सहायता होती है.

5. बीज उत्पादन में वृद्धि होती है.

6. फसलों की प्रतिरक्षण शक्ति में वृद्धि होती है.

7. खाद की मात्रा को बनाए रखने से फसलों के स्वास्थ्य में सुधार होता है.

8. पौधों की सजीवता और प्रतिरक्षण क्षमता में वृद्धि होती है.

9. बीज उत्तपादन में वृद्धि के साथ-साथ उनके गुणवत्ता में भी सुधार होता है.

10. फसलों की अच्छी रूपरेखा और स्वस्थता के लिए सहायक होती है.

11. पोटैशियम की मात्रा से फसलों का सही विकास होता है.

12. फसलों की प्रतिरक्षा को बढ़ावा मिलता है, जिससे विभिन्न प्रकार की रोगों से बचाव होता है.

13. बीजों की उत्पादकता में वृद्धि होती है.

14. फसलों की अच्छी मात्रा में पैदावार होती है.

15. फसलों की ठहराव में सुधार होता है, जिससे फलों की स्थिरता बढ़ती है.

 

FAQ | बार - बार पूछे जाने वाले सवाल -

1. NPK 00-52-34 खाद क्या है?

Ans: npk 0 52 34 खाद एक प्रकार की उर्वरक है जिसमें फॉस्फोरस, और पोटैशियम की उच्च मात्रा होती है.

2. NPK 0 52 34 का पूरा नाम क्या है?

Ans: NPK 0 52 34 का पूरा नाम है - नाइट्रोजन 0%, फॉस्फोरस 52%, पोटैशियम 34%.

3. NPK 0:52:34 खाद किस प्रकार की फसलों में महत्त्वपूर्ण है?

Ans: NPK 0:52:34 खाद मुख्य रूप से फूलदार और फलदार फसलों के विकास में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती है.

4. एनपीके 00 52 34 की खुराक प्रति एकड़ क्या होनी चाहिए?

Ans: एनपीके 00 52 34 की आम खुराक प्रति एकड़ में लगभग 2 किलोग्राम होती है.

5. एनपीके 0 52 34 कीमत 1 किलो क्या है?

Ans: npk 0 52 34 कीमत 1 किलो के आस-पास विभिन्न ब्रांड्स पर आधारित होती है.

6. NPK 0:52:34 का उपयोग किस-किस प्रकार से किया जा सकता है?

Ans: NPK 0:52:34 का उपयोग फलियों, सब्जियों, अनाज, और फूलदार पौधों के लिए किया जा सकता है.

7. NPK 00-52-34 खाद का स्प्रे कैसे और कब करें?

Ans: NPK 00-52-34 का स्प्रे फसल के विकास की दशा में, पुष्पकाल में और फल पकने की दशा में किया जा सकता है.

8. एनपीके 0:52:34 का सब्जी वाली फसलों में क्या महत्व है?

Ans: npk 0 52 34 खाद सब्जी वाली फसलों के पत्तों, फूलों, और फलों के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है.

9. एनपीके 0:52:34 खाद का प्रयोग कब करना चाहिए?

Ans: npk 0 52 34 खाद का प्रयोग बीज से पौधों के उद्भव के समय और फल पकने की दशा में करना चाहिए.

10. एनपीके 0:52:34 खाद के क्या फायदे होते हैं?

Ans: npk 0 52 34 खाद से फसलों का सही विकास, फूलने और फलने की प्रोत्साहन, बेहतर गुणवत्ता के साथ अधिक पैदावार होती है.


Farmer also read | किसानों द्वारा पढ़े जाने वाले लेख -

1. स्टिकर का फसल में उपयोग और फायदे

2. धान की फसल में खरपतवार नियंत्रण कैसे करें?

3. फसल पर नीम ऑइल का उपयोग और फायदे

4. सोयाबीन के प्रमुख छिड़काव की सम्पूर्ण जानकारी।

5. जाने मक्के में कोनसे खरपतवार (Maize weed control) इस्तेमाल करें?


लेखक

भारतअ‍ॅग्री कृषि डॉक्टर

कमेंट करें


होम

वीडियो कॉल

VIP

फसल जानकारी

केटेगरी