Miticide

Miticide: मकड़ी की समस्या और इसका नियंत्रण

किसान भाइयों नमस्कार, स्वागत है BharatAgri Krushi Dukan वेबसाइट पर। भारतीय किसानों के लिए फसलों की सुरक्षा में बहुत ही महत्वपूर्ण एक पहलुओं में से एक है, मकड़ी की संरक्षण. मकड़ी फसलों को बर्बाद कर सकती है और किसानों को नुकसान पहुंचा सकती है. इस ब्लॉग में मकड़ी की समस्या का समाधान करने के लिए कुछ प्रमुख तकनीकी और वैज्ञानिक उपाय हैं, जिनमें मकड़ी को मारने की दवाओं (miticide) की सम्पूर्ण जानकारी दी हैं।  


फसल में मकड़ी की समस्या | Mits problem in crop -

मकड़ी एक ऐसा कीट है जो हमारी प्रमुख फसलों में हानि पहुंचा सकता है। इसके प्रकोप से बचना महत्वपूर्ण है क्योंकि इसका संभावित प्रभाव फसल के उत्पादन में 60% तक की कमी कर सकता है। आमतौर पर, मकड़ी वायरस रोगों के वैक्टर के रूप में कार्य करती है और इससे बैगन, टमाटर, मिर्च, कद्दू, नारियल, कपास, भिंडी, चाय, आम, और अन्य कई फसलों में संक्रमण होता है।


फसल में मकड़ी कीटों के लक्षण | Symptoms of mites pests in crops -

1. मकड़ी से वायरस के संक्रमण के दौरान पत्तियों पर छोटे सूक्ष्म जाले बन जाते हैं।

2. मकड़ी कीट पुष्प कलियों पर भी हो सकती हैं, जिससे फूलों में कमी हो सकती है।

3. मकड़ी से प्रभावित पौधे ग्रसित हो जाते हैं और कमजोर हो जाते हैं।

4. मकड़ी की वजह से फलों की विकास में रुकावट हो सकती है, जिससे उत्पादन में कमी होती है।

5. पत्तियों पर सूक्ष्म जाले के साथ ही बूंदीयाँ भी बन सकती हैं, जो पौधों को कमजोर करती हैं।

6. मकड़ी से प्रभावित पौधों में अजीब सी गंध महसूस हो सकती है।

7. मकड़ी के हमले से पौधों का समरूप होना, यानी पौधों की समरूपता में कमी हो सकती है।

8. मकड़ी से प्रभावित पौधों के पुष्प धीरे-धीरे झड़ सकते हैं।

9. मकड़ी के आक्रमण से फूलों की संख्या में कमी होती है।

10. मकड़ी से प्रभावित पत्तियों का पीला पड़ना एक लक्षण है।

11. मकड़ी की वजह से पत्तियों की कमी हो सकती है, जिससे पौधों की पोषण शक्ति में कमी होती है।

12. मकड़ी के हमले से पत्तियों का कर्ल होना या मुड़ना एक लक्षण हो सकता है।


मकड़ी नाशक कीटनाशक | best miticide -

फसल में मकड़ी को मारने की दवा (makadi marne ki dawa) निम्न है - 

कीटनाशक के नाम 

प्रोडक्ट कंटेंट 

कंपनी का नाम 

उपयोग मात्रा (छिड़काव) 

आईएफसी नीम तेल (जैव कीटनाशक )

नीम का तेल 10000 पी.पी.एम

आईएफसी

1.5 मिली/लीटर

मिटिसाइड

धतूरा अर्क

कटरा फर्टिलाइजर

2 मिली/लीटर

अबासिन

एबामेक्टिन 1.9% ईसी

क्रिस्टल

1 मिली/लीटर

पेजर

डायफेंथियुरोन 50% WP

धानुका 

1.6 ग्राम/लीटर

ओमाइट

प्रोपरगाइट 57% ईसी

धानुका 

0.5 मिली/लीटर

ओबेरोन

स्पाइरोमेसिफेन 22.9% SC 

बायर

1 मिली/लीटर

इंटरपिड 

क्लोरफेनेपायर 10% एससी 

बीएएसएफ

2 मिली/लीटर

मेडेन कीटनाशक

हेक्सिथियाज़ॉक्स 5.45% डब्ल्यू डब्ल्यू ईसी

बायोस्टैड

2 मिली/लीटर

दामू 

प्रोपरगाइट 50% + बिफेंथ्रिन 5% एसई

इंडोफिल 

0.5 मिली/लीटर


नोट - बताये गये कीटनाशक/मकड़ीनाशक (miticide insecticide)  में से कोई एक फसल में मकड़ी की समस्या अनुसार किसी एक का उपयोग करें।  


सारांश | conclusion -

इस ब्लॉग के माध्यम से हमने देखा कि मकड़ी की समस्या फसलों के लिए एक महत्वपूर्ण चुनौती है, और इससे नुकसान को रोकने के लिए हमें सबकुछ करना आवश्यक है। आपने यहां विभिन्न तकनीकी और वैज्ञानिक उपाय पाए हैं, जिन्हें अपनाकर किसान भाइयों ने मकड़ी की संरक्षण में सफलता प्राप्त की है।

ध्यान रखें कि सही समय पर बुआई, उर्वरकों का संतुलित प्रयोग, और सही खादों का उपयोग करना मकड़ी की बढ़ती संख्या को कम करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, आपने विभिन्न कीटनाशकों की जानकारी प्राप्त की है, जिन्हें सही मात्रा में और सही तरीके से प्रयोग करके आप मकड़ी से अपनी फसलों को सुरक्षित रख सकते हैं।

 

FAQ | बार - बार पूछे जाने वाले सवाल -


1. मकड़ी की दवा कौन सी है? 

मकड़ी को नष्ट करने के लिए धतूरा अर्क, नीम तेल, एबामेक्टिन, और अन्य कीटनाशकों का उपयोग किया जा सकता है। 

2. मकड़ी को कैसे खत्म करें? 

मकड़ी को खत्म करने के लिए नीम तेल, धतूरा अर्क, एबामेक्टिन, और अन्य कीटनाशकों का उपयोग करें। 

3. मकड़ी से बचाव के लिए कितनी बार छिड़काव करना चाहिए?

आमतौर पर, 15-20 दिनों की अंतराल में छिड़काव करना सुरक्षित और प्रभावी होता है।

4. कैसे पहचानें कि फसल में मकड़ी की समस्या है?

पत्तियों पर छोटे सूक्ष्म जाले, फूलों की कमी, और पौधों की ग्रसितता इस समस्या के लक्षण हो सकते हैं।

5. क्या है मकड़ी की समस्या का मुख्य कारण?

मकड़ी फसलों को बर्बाद कर सकने वाली कीट हैं जो प्रमुखत: फूलों, पत्तियों और फलों पर प्रभाव डाल सकती हैं।


Farmer also read | किसानों द्वारा पढ़े जाने वाले लेख - 


1. chilli varieties: मिर्च की उन्नत किस्मे जो देगी आपको डबल उत्पादन

2. गन्ने की फसल में 100 टन उपज देने वाली उर्वरक की मात्रा

3. Syngenta Alika: सिंजेंटा अलिका कीटनाशक की सम्पूर्ण जानकारी

4. ridomil gold: सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी की सम्पूर्ण जानकारी

5. tomato leaf blight: टमाटर झुलसा रोग के लक्षण, प्रसार और नियंत्रण



लेखक | Author -

BharatAgri Krushi Doctor

कमेंट करें


होम

फसल जानकारी

VIP

केटेगरी

आर्डर