Sugarcane Sett Treatment in hindi

Sugarcane Sett Treatment : गन्ने में बीजोपचार करने की सम्पूर्ण जानकारी

नमस्ते किसानों भाइयों भारतअग्री कृषि दुकान वेबसाइड में आपका स्वागत है, आज हम जानेंगे गन्ने का बीजोपचार  (Sugarcane Sett Treatment) कैसे करे, बीजोपचार करने के फायदें, बीजोपचार से रोगों और कीटो का नियंत्रण कैसे करे सम्पूर्ण जानकारी और स्मार्ट टिप्स के बारें में।  

गन्ना फसल की भारत में खेती बड़े पैमाने में की जाती है कारण चीनी का मुख्य स्रोत गन्ना है। गन्ना फसल को नगदी फसल कहा जाता है क्योकि यह किसानों की जीविका और आय में अहम् भूमिका निभाता है। आप को बता दे की चीनी के उपत्पादन में भारत देश दुनिया का सबसे बड़ा दूसरा उत्पादक देश है। गन्ने की फसल से किसानों की जितना अधिक फायदा होता है उससे ज्यादा किसान गन्ने की फसल को नुकसान पहुंचने वाले रोगों और कीटों से परेशान है। इस समस्या का मुख्य कारण है बिना उपचारित किये बीजों की बुवाई करना।   


गन्ने का बीजोपचार | Sugarcane Sett Treatment -

किसान भाइयों आप को बता दे की गन्ना बीजों के उपचार के अभाव में, रोग और कीट पौधों को प्रभावित कर सकते हैं, जिससे पौधों की ग्रोथ पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। उपचार न करने से पौधे कमजोर हो सकते हैं और संक्रमित हो सकते हैं, जो उनकी प्रवृत्ति और विकास को प्रभावित कर सकता है और उत्पादकता कम हो सकती है क्योंकि संक्रमित या कमजोर पौधे अधिक उत्पादक नहीं होते। 

गन्ने का बीजोपचार नहीं करने से बीजों को सही पोषण नहीं मिलता और पौधे उपचारित भूमि में सही रूप से नहीं विकसित हो सकते, जिससे उनकी प्रकृति और उत्पादन प्रभावित हो सकता है। बिना उपचार किए गए बीजों से पौधे की उत्पादन में कमी हो सकती है, जिससे प्रति एकड़ उत्पादन घाटा हो सकता है।


गन्ने में बिजोपचार की जैविक विधि | Biological method for Sett Treatment -

गन्ने में बिजोपचार के लिए जैविक बीज उपचार में, जैविक उपकरणों का उपयोग किया जाता है जैसे कि जैविक जैवामृत, जैविक रोगनाशक, और प्राकृतिक मौजूदा जैविक पदार्थ। इसके माध्यम से, बीजों को संक्रमण रोगों, कीटों और बीमारियों से बचाने के लिए किया जाता है।  

गन्ने में बिजोपचार के लिए जैविक माइकोराइजा, नाइट्रोजन फिक्सिंग बैक्टीरिया, और पौधों को पोषण प्रदान करने वाले अन्य जैविक संघटकों का प्रयोग किया जाता है। इससे पौधों की संवर्धना, प्रतिरक्षा तंत्र और उत्पादकता बढ़ सकती है।


गन्ने में बीज उपचार क्यों महत्वपूर्ण है | Sugarcane Sett Treatment Importance -

1. प्रारंभिक सुरक्षा: यह बीजों को पौधों की प्रारंभिक सुरक्षा प्रदान करता है, जिससे वे स्वस्थ और मजबूत होते हैं।

2. रोग और कीटों से संरक्षण: बीज उपचार रोगों और कीटों के प्रसार को रोकता है, जिससे पौधों को सुरक्षा मिलती है।

3. पौधों की वृद्धि: यह उपाय बीजों की अच्छी अंकुरण और पौधों की वृद्धि को बढ़ावा देता है।

4. बीज की लंबी उम्र: बीज उपचार से बीजों की लंबी उम्र की गारंटी मिलती है।

5. सुरक्षा और वृद्धि: बीज उपचार से बीजों को सड़ने से बचाया जा सकता है, जिससे प्रति एकड़ बीजों की मात्रा कम लगती है।


गन्ने में बीज उपचार के बेस्ट फफूंदनाशी | Sugarcane Sett Treatment Fungicide -

गन्ने में बीजों के उपचार के लिए विभिन्न फफूंदनाशकों की सर्वश्रेष्ठ विकल्प:

1. आनंद एग्रो डॉ बैक्टोस डर्मस फफूंदनाशक (ट्राइकोडर्मा विरिडी): 6 मिली/लीटर पानी

2. धानुका वीटावैक्स पॉवर फफूंदनाशक (कार्बोक्‍सिन 37.5% + थिरम 37.5% डी.एस): 2-3 ग्राम/लीटर पानी

3. UPL साफ फफूंदनाशक (कार्बेन्डाजिम 12% + मैनकोजेब 63% WP): 2-3 ग्राम/लीटर पानी

4. BASF ज़ेलोरा फफूंदनाशक (मिथाइल 45% + पायराक्लोस्ट्रोबिन 5% एफएस): 2-3 मिली/लीटर पानी

5. बेस्ट एग्रोलाइफ़ वार्डन फफूंदनाशक (एज़ोक्सिस्ट्रोबिन 2.5% + थियोफैनेट मिथाइल 11.25% + थियामेथोक्सम 25% एफएस): 5 मिली/लीटर पानी

नोट - बताये गए फफूंदनाशी में से कोई एक फफूंदनाशी का उपयोग पानी में मिलकर उपयोग करें।  


गन्ने का बीजोपचार के फायदें Sugarcane Sett Treatment Benefits -

गन्ने का बीजोपचार (Sugarcane Sett Treatment) का महत्वपूर्ण फायदे निम्नलिखित हैं:

1. बीजों के बुवाई से पहले किया जाने वाला बीजोपचार रोगों और कीटों के प्रसार को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह बीमारियों और कीटों के प्रति पौधों की प्रतिरक्षा को बढ़ावा देता है और पौधों को स्वस्थ रखता है।

2. गन्ने के बीजों को उपचार करने से पोषक तत्वों को बढ़ावा मिलता है, जो पौधों के स्वस्थ विकास के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। इससे पौधों की उत्पादकता और उत्पादन में वृद्धि हो सकती है।

3. बीजोपचार पौधों के जल उपायोग को कम कर सकता है, क्योंकि स्वस्थ पौधे को कम जल की आवश्यकता होते हैं। इससे पानी की बचत होती है और साथ ही पानी की अधिक आपूर्ति से होने वाले नुकसानों का भी प्रतिरोध होता है।

4. बीजोपचार से प्राथमिक उपचार किए गए बीजों का उत्पादकता में वृद्धि हो सकती है। यह पौधों की उत्पादकता को बढ़ावा देता है और उत्पादन को बढ़ाते हैं।  

5. गन्ने के बीजों का उपचार करना पौधों की स्वस्थता, प्रतिरक्षा शक्ति, और उत्पादकता में सुधार कर सकता है और उत्पादन को बढ़ावा देता  है।


Conclusion | सारांश - 

किसान भाइयों आशा करते हे कीगन्ने का बीजोपचार  (Sugarcane Sett Treatment) कैसे करे, बीजोपचार करने के फायदें, बीजोपचार से रोगों और कीटो का नियंत्रण कैसे करे सम्पूर्ण जानकारी आप को पसंद आई है, तो हमें कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरुरत दे और साथ ही इस लेख को अपने अन्य किसान दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। धन्यवाद 


अक्सर पूछे जानें वाले प्रश्न |  FAQ -


1. गन्ने का बीजोपचार क्यों जरूरी है?

बीजोपचार से गन्ने की सुरक्षा और उत्पादकता में सुधार होता है।

2. गन्ने का बीजोपचार कैसे किया जाता है?

गन्ने के बीजों को उपचार करने के लिए जैविक या रासायनिक उपायों का उपयोग किया जाता है।

3. गन्ने में बीजोपचार के फायदे क्या हैं?

गन्ने में बीजोपचार से बीजों की प्रतिरक्षा बढ़ती है और पौधों की उत्पादकता में वृद्धि होती है।

4. गन्ने में बीजोपचार कब किया जाता है?

गन्ने के बीजों को बुवाई से पहले बीजोपचार किया जाता है।

5. बीजोपचार से किस प्रकार का फायदा होता है?

बीजोपचार से पौधों की स्वस्थता, प्रतिरक्षा शक्ति, और उत्पादकता में सुधार होता है, जिससे उत्पादन में वृद्धि होती है।



लेखक - 

भारतअग्रि कृषि एक्सपर्ट

Back to blog

Leave a comment

Please note, comments need to be approved before they are published.


होम

वीडियो कॉल

VIP

फसल जानकारी

केटेगरी