silicon based sticker

silicon based sticker: स्टिकर का फसल में उपयोग और फायदे

किसान भाइयों नमस्कार, स्वागत है BharatAgri Krushi Dukan वेबसाइट पर। आज हम जानेंगे पौधों और फसल में छिड़काव के लिए चिपकू (silicon based sticker) का इस्तेमाल, फायदें और सम्पूर्ण जानकरी । चिपकू क्या है (What is silicon based sticker) ,  चिपकू की प्रति एकड़ उपयोग मात्रा (silicon based sticker dose per acre) , चिपकू का फसल में कैसे उपयोग करें (silicon based sticker use), चिपकू कितने रूपए में मिलता है (silicon based sticker rate) आदि।  

चिपकू (silicon based sticker) जिसे सिलिकॉन आधारित स्टिकर भी कहा जाता है।  पौधों और फसलों की सुरक्षा में एक नवीनतम तकनीक है, जिसका इस्तेमाल प्रमुख रूप से छिड़काव और पौध एवं फसल विकास के लिए किया जाता है। यह तकनीक प्राकृतिक रूप से सुरक्षा प्रदान करती है और फसलों के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करती है।  

 

चिपकू (silicon based sticker) क्या हैं ? 

चिपकू (silicon based sticker) एक प्रकार का स्टिकर है जिसे पौधों और फसलों के पत्तों पर छिड़काव किया जाता है। यह स्टिकर सिलिकॉन आधारित होता है, जिसमें खनिज तत्व और खाद्य तत्व शामिल होते हैं। चिपकू का उपयोग पौधों को पोषित करने और सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है, जो उनके विकास और उत्पादन में मदद करता है। यह स्टिकर पानी और खनिजों को पौधों तक पहुंचाकर उन्हें पोषण प्रदान करता है। चिपकू एक विशेष तकनीक है जो खेती को सुस्त बनाती है और फसलों की उत्पादकता को बढ़ाने में मदद करती है।


चिपकू (silicon based sticker) कैसे बनाया जाता हैं ? 

1. सामग्री संग्रहण: चिपकू बनाने के लिए सबसे पहले सिलिकॉन युक्त रासायनिक घटकों को संग्रह किया जाता है। सिलिकॉन, युक्तियों, बायोस्टिमुलेंट्स, विटामिन, खनिज आदि इसमें शामिल हो सकते हैं।

2. अध्ययन और परीक्षण: संग्रहित सामग्री का परीक्षण किया जाता है ताकि उसका सही संरचना और कार्यक्षमता मापी जा सके।

3. उत्पादन की प्रक्रिया: एक विशिष्ट तकनीक से सिलिकॉन और अन्य घटकों को संयोजित किया जाता है। इसके बाद, उन्हें विशेष मशीनों द्वारा घोल कर एक विशिष्ट रासायनिक संरचना बनाई जाती है।

4. फॉर्मूलेशन: उत्पाद को बनाने के लिए उचित फॉर्मूलेशन का उपयोग किया जाता है, जिसमें उचित अनुपात में घटकों को मिलाया जाता है। यह सुनिश्चित करता है कि उत्पाद पौधों के लिए उपयुक्त होता है और उनके विकास को और उत्पादन को बढ़ाता है।  

5. पैकेजिंग और भंडारण: उत्पाद को उचित पैकेजिंग की जाती हैं, ताकि उसकी गुणवत्ता बनी रहे और उसे दुर्गाम सामग्री से बचाया जा सके। चिपकू को उचित तापमान में भंडारित किया जाता है ताकि उसकी एक्सपायरी डेट बढ़ सके।

6. इस तरह से, चिपकू (सिलिकॉन आधारित स्टिकर) का उत्पादन किया जाता है जो पौधों और फसलों के विकास में मदद करता है और उन्हें कीटों और रोगों से सुरक्षा प्रदान करता है।


चिपकू की प्रति एकड़ उपयोग मात्रा | silicon based sticker dose per acre -

चिपकू (सिलिकॉन आधारित स्टिकर) की प्रति एकड़ उपयोग मात्रा वर्षा, पौधों की उम्र, और फसल के प्रकार पर निर्भर करती है। सामान्य रूप से, एक एकड़ खेत में 250 से 500 ग्राम या 250 से 500 मिली  चिपकू की मात्रा का उपयोग किया जाता है। यह सिर्फ एक अनुमानित मात्रा है और अधिकतर विनिर्देशों के अनुसार उपयोग करना चाहिए। फसल और क्षेत्रीय परिस्थितियों के आधार पर भी चिपकू की मात्रा में उपयोग करना उचित रहता है।


चिपकू कितने रूपए में मिलता है? | silicon based sticker rate -

चिपकू (सिलिकॉन आधारित स्टिकर) की क़ीमत विभिन्न ब्रांड्स और पैकेज के आधार पर भिन्न हो सकती है। सामान्य रूप से, चिपकू का रेट 500 रुपए से 1000 रुपए प्रति लीटर तक हो सकता है। उत्पाद की गुणवत्ता और पैकेज के मात्रा के अनुसार इसका रेट भिन्न हो सकता है। कृपया उपयुक्त ब्रांड और दुकानों में जाँच करके चिपकू की वास्तविक क़ीमत की जानकारी प्राप्त करें।


पौधों और फसल में छिड़काव के लिए चिपकू के फायदें | silicon based sticker use benefits -

चिपकू (सिलिकॉन आधारित स्टिकर) का पौधों और फसलों में छिड़काव के लिए इस्तेमाल करने से निम्नलिखित फायदे होते हैं:

1. चिपकू पौधों और फसलों में ज्यादा छिड़काव की मात्रा से बचाता है और उन्हें सुरक्षित रखता है।

2. यह फसलों के उत्पादकता में सुधार करता है और उत्पाद की गुणवत्ता को बढ़ाता है।

3. चिपकू स्टिकर पानी की बचत करता है और फसलों को पानी की कमी को पूरा करने के लिए अधिक समय तक सहायक होता है।

4. यह पौधों के विकास को बढ़ाता है और पौधों में पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ाता हैं।  

5. चिपकू (स्टिकर) फसलों को रोगों और कीटों से बचाने में मदद करता है।

6. यह पौधों को अनुषंगिक दबाव, धूप, और तापमान के खिलाफ भी संरक्षित रखता है।

7. चिपकू के इस्तेमाल से फसलों की शक्ति और सहनशक्ति में सुधार होता है।

8. यह पौधों के पत्तों को चमकदार बनाता है और उन्हें प्रकाश संश्लेषण की क्रिया को बढ़ता हैं।  

9. चिपकू पौधों के विकास में अधिक रसायनिक खनिज उपलब्ध करवाता है।

10. यह फसलों की बुवाई के बाद पौधों के पत्तों की सुरक्षा करता है।

11. चिपकू (स्टिकर) पौधों के आकर को मजबूत बनाता है और उन्हें टूटने से बचाता है।

12. यह पौधों के संरचना को बेहतर बनाता है और उन्हें प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान से बचाता है।

13. चिपकू के इस्तेमाल से फसलों की फूलने और फलने की प्रक्रिया में सुधार होता है।

14. यह पौधों की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है और उन्हें रोगों से बचाता है।

15. चिपकू स्टिकर फसलों को पानी की कमी होने से होने वाले नुकसान से बचता हैं।  

16. यह पौधों को फसल के प्रकार और क्षेत्रीय परिस्थितियों के अनुसार विकसित करता है और उन्हें बेहतर उत्पादन देता है।

17. चिपको फसल में उपयोग की जाने वाली रासायनिक दवाइयों की मात्रा को कम करता हैं।  

18. फसल में चिपको के उपयोग से छिड़काव की जाने वाली दवाईयां पौधों में पूर्ण तरह फ़ैल जाती हैं।  


किसानों का पसंदीदा चिपकू  | Farmer's Choice silicon based sticker -

किसानों के लिए आईएफसी सुपर स्टिकर (सिलिकॉन-आधारित स्प्रेडर, स्टिकर और पेनेट्रेटर) एक पसंदीदा उपकरण है। यह किसानों के लिए एक उपयुक्त और लोकप्रिय विकल्प है, जो पौधों और फसलों के विकास में मदद करता है। चिपकू पौधों को सुरक्षित रखता है और उन्हें नियमित रूप से पोषण प्रदान करता है। यह फसलों की उत्पादकता को बढ़ाता है और उन्हें रोगों और कीटों से भी बचाता है। चिपकू के इस्तेमाल से किसान अपनी फसलों के उत्पादन में सुधार कर सकते हैं और उन्हें बेहतर मुनाफा कमा सकते हैं। इसलिए, चिपकू किसानों का पसंदीदा सिलिकॉन आधारित स्टिकर है।

silicon based sticker


आईएफसी सुपर स्टिकर  | IFC Super Sticker (silicone-based spreader, sticker & penetrator) -

आईएफसी सुपर स्टिकर (सिलिकॉन-आधारित स्प्रेडर, स्टिकर और पेनेट्रेटर) फसलों में छिड़काव की मात्रा को कम करते हुए कृषि दवाइयों की प्रभावशीलता को बढ़ाता है। इसकी स्थिरता अच्छी होने से, इसे किसी भी कृषि दवाइयों के साथ मिलाया जा सकता है। आईएफसी सुपर स्टिकर दवाइयों को पत्तियों पर समान रूप से और तेजी से फैलाता है और बारिश के कारण होने वाले दवाइयों के क्षरण को कम करता है।

सुपर स्टिकर (सिलिकॉन-आधारित स्प्रेडर, स्टिकर और पेनेट्रेटर) के उपयोग से छिड़काव की मात्रा को कम करते हुए फसलों की उत्पादकता में सुधार होता है। आईएफसी सुपर स्टिकर कार्बन-आधारित स्प्रेडर्स और स्टिकर है और यह सिलिकॉन से बना होता है। यह फसल की पत्तियों और फलों की सतह पर बहुत सक्रिय रूप से कार्य करता है और फसल को लम्बे समय तक स्वस्थ रखता है। आईएफसी सुपर स्टिकर एक गैर-विषाक्त और अवशेष-मुक्त उत्पाद है।

आईएफसी सुपर स्टिकर की प्रति एकड़ उपयोग मात्रा विभिन्न प्रकार के फसलों के लिए अलग-अलग हो सकती है। सामान्य रूप से, आईएफसी सुपर स्टिकर की उपयोग मात्रा निम्नलिखित रूप में होती है:

0.3 मिली/लीटर पानी

5 मिली/पंप (15 लीटर पंप) 

50 मिली/एकड़ से छिड़काव करें।  

यह सुझाव दिए गए मात्रा को अनुसरण करके, आप आईएफसी सुपर स्टिकर का उचित उपयोग कर सकते हैं और फसलों के विकास में और भी अच्छे परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।


FAQ | बार - बार पूछे जाने वाले सवाल - 

1. आईएफसी सुपर स्टिकर क्या है?

आईएफसी सुपर स्टिकर एक विशेष प्रकार का सिलिकॉन-आधारित स्टिकर है, जिसका उपयोग पौधों और फसलों में छिड़काव के लिए किया जाता है। यह एक स्प्रेडर, स्टिकर और पेनेट्रेटर के रूप में उपलब्ध होता है और दवाइयों को पत्तियों पर तेजी से और समान रूप से फैलाने में मदद करता है।

2. आईएफसी सुपर स्टिकर के लाभ क्या हैं?

आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग पौधों के विकास में मदद करता है और उन्हें रोगों और कीटों से बचाता है। यह फसल की उत्पादकता को बढ़ाता है और उन्हें अधिक मुनाफा कमाने में सहायक होता है। इसके उपयोग से दवाइयों की प्रभावशीलता भी बढ़ती है और फसल को अधिक समय तक सुरक्षित रखता है।

3. आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग कैसे करें?

आईएफसी सुपर स्टिकर को उचित मात्रा में पानी के साथ मिलाकर फसल की पत्तियों पर स्प्रे करें। इससे दवाइयों को पौधों तक अच्छी तरह पहुंचने में मदद मिलती है और फसल के विकास में सुधार होता है।

4. आईएफसी सुपर स्टिकर का रेट क्या है?

आईएफसी सुपर स्टिकर का रेट उत्पाद के गुणवत्ता, विक्रेता और क्षेत्र के आधार पर भिन्न हो सकता है। सामान्यतः, इसका मूल्य प्रति लीटर या पैकेट में दर्ज किया जाता है, जिसे आप अपने भारतॲग्री कृषि दुकान से खरीद सकते हैं।

5. आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग किस फसल में किया जा सकता है?

आईएफसी सुपर स्टिकर को सभी प्रकार की फसलों में उपयोग किया जा सकता है, जैसे कि धान, गेहूँ, मक्का, चावल, तिलहन, सरसों, और बागवानी के फसलों में।

6. आईएफसी सुपर स्टिकर कितने मिलीलीटर पानी में मिलाया जा सकता है?

सामान्यतः, आईएफसी सुपर स्टिकर की प्रति एकड़ उपयोग मात्रा 0.3 मिली/लीटर पानी होती है। यह उचित मात्रा में पौधों के लिए सबसे अधिक प्रभावी होता है।

7. आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग फसल के किस हिस्से में करें?

आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग फसल की पत्तियों पर करें, जिससे दवाइयों को समान रूप से और तेजी से पौधों तक पहुंचने में मदद मिलती है।

8. आईएफसी सुपर स्टिकर को कितने दिनों के बाद फिर से छिड़काव करें?

सामान्यतः, आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग प्रति सप्ताह या फसल के विकास के अनुसार करें। अधिक जानकारी के लिए उत्पाद के निर्देशों का पालन करें।

9. आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग वर्षा में किया जा सकता है?

जी हां, आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग वर्षा में भी किया जा सकता है। इससे फसल में होने वाले दवाइयों के क्षरण को कम करके नुकसान को कम किया जा सकता है।

10. आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग विशेषज्ञीय विधि में कैसे करें?

विशेषज्ञीय विधि में आईएफसी सुपर स्टिकर का उपयोग विशेषज्ञों द्वारा सलाह लेकर करें। उचित मात्रा में और सही तरीके से इसका उपयोग करने से फसल के विकास में बेहतरीन परिणाम मिलते हैं।


Conclusion | सारांश - 

किसान भाइयों BharatAgri Krushi Dukan वेबसाईट - “ "पौधों और फसल में छिड़काव के लिए चिपकू (silicon based sticker) का इस्तेमाल, फायदें और सम्पूर्ण जानकरी"  यह ब्लॉग ( लेख ) आपको कैसा लगा? आशा करते है की आपको सारी जानकारी पसंद आई है और आपको आने वाला मौसम मे इसका फायदा भी होगा। "पौधों और फसल में छिड़काव के लिए चिपकू (silicon based sticker) का इस्तेमाल, फायदें और सम्पूर्ण जानकरी"  के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे BharatAgri App को विज़िट करें। 

इस ब्लॉग को शेयर करके अपने किसान साथियों को भी इसे पढ़ने का अवसर दें और पौधों और फसल में छिड़काव के लिए चिपकू (silicon based sticker) का इस्तेमाल, फायदें और सम्पूर्ण जानकरी के बारे में उन्हें भी बताएं। इससे इस जानकारी का विस्तार होगा और अधिक किसान इससे लाभान्वित होंगे। धन्यवाद !


Farmer also read | किसानों द्वारा पढ़े जाने वाले लेख -

1. tamatar ki kheti: टमाटर खेती की सम्पूर्ण जानकारी

2. neem oil spray: फसल पर नीम ऑइल का उपयोग और फायदे

3. Rice fertilizer dose: धान उर्वरक प्रबंधन के बारे में A to Z जानकारी 

4. soybean spray schedule: सोयाबीन के प्रमुख छिड़काव की सम्पूर्ण जानकारी।

5. जाने मक्के में कोनसे खरपतवार (Maize weed control) इस्तेमाल करें?



लेखक 

भारतअ‍ॅग्री कृषि डॉक्टर

Back to blog

Leave a comment

Please note, comments need to be approved before they are published.


होम

फसल जानकारी

VIP

केटेगरी

आर्डर