"lauki ki kheti "

Lauki ki kheti: जाने लौकी की खेती कैसे करें

नमस्कार किसान भाइयों, सभी किसान भाइयों का Bharatagri Krushi Dukan  वेबसाइट पर स्वागत है। आज हम इस लेख में लौकी की खेती की बारे में पूरी जानकारी देखेंगे। लौकी की खेती करते समय जमीन कैसी होनी चाहिए, एक एकड़ के लिए बीज की मात्रा, बोने का सही समय, बोने की विधि और खाद की मात्रा इन बातों पर हमें ध्यान देना चाहिए। यदि आप इन बातों पर ध्यान देंगे तो आप अच्छा उत्पादन प्राप्त करेंगे।

 

लौकी की खेती | Bottle gourd Farming Details  -

लौकी में विटामिन सी और जिंक का एक अच्छा स्रोत है जो त्वचा को कई लाभ पहुंचा सकती है।किसान  वैज्ञानिक तकनीक से लौकी की खेती कर रहे हैं, जिससे उन्हें साल में तीन बार फसल मिल रही है और मुनाफा भी अच्छा हो रहा है। इसे जायद, खरीफ, और रबी सीज़न में उत्पादित किया जाता है। देश में , मचान विधि काफी प्रसारित है जो बेल वाली सब्जियों के लिए अत्यंत प्रभावी मानी जाती है।

 

auki ki kheti के बारे में संक्षिप्त विवरण जानें-

जमीन

लौकी की खेती के लिए अच्छी तरह ड्रेन और कार्बनिक पदार्थों से भरपूर रेतीली दोमट मिट्टी होनी चाहिए। मिट्टी का  पीएच 6.5 से 7.5 के बीच लौकी की खेती के लिए उपयुक्त है।

तापमान 

लौकी के उत्तम विकास के लिए, न्यूनतम 18°C तापमान की आवश्यकता होती है, लेकिन सर्वोत्तम तापमान 24-27°C के बीच होता है।

बीज दर

500 -600  ग्राम / एकड़ 

वैरायटी

हारुना, माही एमजीएच-4 वरद, हजारी-04, एफबी-वामगोल्ड, माही 8, अनमोल एफ1, यूएस 112

बुवाई का सही समय

जायद की बुवाई मध्य जनवरी में, खरीफ मध्य जून से पहले जुलाई तक, और रबी सितंबर के अंत से अक्टूबर के पहले सप्ताह तक की जाती है।

बुवाई की विधि

डिब्लिंग तरीका 

बीज अंतर 

पंक्ति से पंक्ति - 5 से 6 फुट और बीज से बीज 2 से 2.5 फुट

फसल की अवधि

120 दिन 

 

लौकी की खेत के लिए बेसल  डोज - 

नीम खली - 100 kg + 18:46:00(DAP) - 50 kg + 46:00:00 (urea)- 20 kg + 00:00:60:17(MOP) - 25 kg + सूक्ष्म पोषक तत्व - 5 kg प्रति एकड़ आप मिट्टी के हिसाब कम-ज्यादा कर सकते हैं। 


लौकी की खेत के कीड़े और रोग - 

कीट 

15 लीटर पंप 

माहु 

कॉन्फीडोर - 10 मिली 

नीम आइल - 30 मिली (10000)

फल मक्खी

डेसिस 100 - 10 मिली 

डेलिगेट - 15 मिली 

लाल भृंग

सुपर डी - 30 मिली 

एडमायर - 8 ग्राम 

रोग 

नियंत्रण 15 लीटर पंप 

एन्थ्रेक्नोज

साफ़ - 30 ग्राम 

रिडोमिल गोल्ड - 30 ग्राम 

पाउडरी मिल्ड्यू 

अमिस्टार टॉप - 15 मिली 

अवतार - 30 ग्राम 

डाउनी मिल्ड्यू

एंट्राकोल - 30 ग्राम 

कर्ज़ेट - 45 ग्राम 

विल्ट 

ब्लू कॉपर-500 ग्राम /एकड़
(सूचना - ड्रेंचिंग या पानी के माध्यम) 


कटाई की विधि - 

लौकी की खेती में फल की पहली  कटाई 50 से 60 दिन में होती है और तुड़वाई 6-7 दिन के अन्तराल पर की जाती है। 


उत्पादन - 

180 -200 क्विंटल / एकड़ 

 

Conclusion | सारांश - 

किसान भाइयों हमें उम्मीद है Lauki ki kheti से सम्बंधित यह लेख आपको पसंद आया होगा। यदि आपको लौकी की खेती से सम्बंधित कुछ सुझाव या प्रश्न हैं तो हमें कमेंट बॉक्स में बताएं। साथ ही इस लेख को अपने अन्य किसान दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। खेती संबधित अन्य जानकारी को पढ़ने या फिर समझने के लिए हमारे भारतअग्री कृषि दुकान के साथ जुड़ें रहे।


लौकी की खेती से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न | FAQs - 


1. लौकी का पौधा कितने दिन में फल देता है?

जवाब - लौकी का  पौधा 50 - 60 दिनों में फल देता है। 

2. लौकी की बुवाई कौन से महीने में की जाती है?

जवाब - जायद की बुवाई मध्य जनवरी में, खरीफ मध्य जून से पहले जुलाई तक, और रबी सितंबर के अंत से अक्टूबर के पहले सप्ताह तक की जाती है।

3. लौकी में गोबर खाद कितना डालना चाहिए?

जवाब - 5 - 6 टन / एकड़ गोबर खाद डालना चाहिए। 

4. लौकी की सबसे अच्छी किस्म कौन सी है?

जवाब -  हारुना, माही एमजीएच-4 वाराद, हजारी-04, एफबी-वाम गोल्ड, माही 8, अनमोल एफ1, यूएस 112 आदि। 

5. एक पौधे पर कितने लौकी उगते हैं?

जवाब - 10 - 15 फल / पौधा 

6. लौकी का बीज कितने दिन में उगता है?

जवाब - 7 से 8 दिनों में अंकुरण होता है। 

7. क्या मुझे लौकी के बीज बोने से पहले भिगो देना चाहिए?

जवाब - हां, आप बोने से पहले भिगोकर लगाएं, तो बीज जल्दी अंकुरित होता है। 

 

इसे भी एक बार अवश्य पढ़ें | People also read - 


1. sencor herbicide: सेन्कोर तन नाशकची A to Z माहिती

2. Hamla 550 uses in hindi: हमला 550 कीटनाशी A to Z जानकारी

3. rhizome rot of turmeric: हल्दी में प्रकंद सड़न रोग के कारण और उपाय

4. leaf curl of chilli: मिर्च के पर्णकुंचन/कुकड़ा रोग की संपूर्ण जानकारी

5. ridomil gold: सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी की सम्पूर्ण जानकारी



Author | लेखक -

BharatAgri Krushi Doctor

Back to blog

Leave a comment

Please note, comments need to be approved before they are published.


होम

वीडियो कॉल

VIP

फसल जानकारी

केटेगरी