gram pod borer control

Gram pod borer control: चने में इल्ली की दवा और नियंत्रण A to Z जानकारी

किसान भाइयों नमस्कार, स्वागत है BharatAgri Krushi Dukan वेबसाइट पर। आज के ब्लॉग में हम जानेंगे चने की फसल में आने वाली इल्लियों की समस्या और नियंत्रण (gram pod borer control) के साथ लक्षण, जैविक नियंत्रण, रासायनिक नियंत्रण, और इल्लियों के नियंत्रण के लिए बेस्ट कीटनाशक की सम्पूर्ण जानकारी  के साथ स्मार्ट टिप्स । 


चने में इल्लियों की समस्यां | chickpea pod borer information in Hindi -

चने की खेती करने वाले किसानों को ध्यान देना चाहिए क्योंकि इसमें फली छेदक कीट (gram pod borer) के हमले का खतरा होता है. यह कीट फसल को प्रभावित करके पैदावार में भारी क्षति का कारण बन सकता है, जिससे किसानों को नुकसान हो सकता है. इसलिए, सही समय पर फसल संरक्षण के उपायों का पालन करना आवश्यक है. अगर यह कीट संक्रमित हो जाता है, तो पैदावार में 50 से 60 प्रतिशत की कमी हो सकती है, जिससे किसानों की आर्थिक स्थिति पर असर पड़ सकता है.


चने में इल्लियों के लक्षण | Gram Pod borer insect symptoms -

1. चने में फली छेदक कीट/इल्लिया हरे रंग के दिखाई देते हैं।  

2. यह इल्ली 1.25 इंच लंबी होती है।  

3. फली छेदक इल्ली हरे से भरें रंग में अवस्था अनुसार परिवर्तित हो जाती हैं।  

4. चने की इल्ली शुरुआत में चने की पत्तियों को खाती हैं।  

4. यह बाद फली लगने पर उनमें छेद कर दाने को खोखला कर देती हैं।

5. फली छेदक इल्ली के प्रभाव से अच्छी गुणवत्ता दाना नहीं बन पता है और प्रति एकड़ उत्पादन में 40 से 50% तक नुकसान होता हैं।  


इल्लियों का नियंत्रण | gram pod borer management -

1. गर्मियों में खेत की गहरी जुताई करें ।

2. सुण्डियों को पकड़ कर नष्ट कर दें ।

3. प्रदेशीय संस्तुत कीट प्रतिरोधी प्रजातियों के बीजों की बुवाई करनी चाहिए।

4. ज्वार, मक्का आदि के साथ अंत: फसल पद्धति तथा किनारों पर गेंदा उगाना चाहिए।

5. सन्तुलित व संस्तुत मात्रा में खाद व पानी का उपयोग करना चाहिए।

6. निरिक्षण के लिए खेतों में फेरोमोन ट्रैप  5 से 6 प्रति एकड़ की दर से लगाने चाहिए।

7. कीट भक्षी पक्षियों बैठने के लिए T आकार की खुंटीयाँ (अड्डे) 20 -25  प्रति एकड़ की दर से खेत में लगानी चाहिए।

8. नीम तेल का 2 से 5 मिली प्रति लीटर के हिसाब से छिड़काव करे। 


चने में इल्ली की दवा| Gram pod borer control Insecticide -

1. प्रोफेक्स सुपर (प्रोफेनोफोस 40% + साइपरमेथ्रिन 4% ईसी)  400 मिली, 150 - 200 लीटर पानी में घोल कर फसल में छिड़काव करे।  

2. धानुका ईएम 1 (एमेमेक्टिन बेंजोएट 5% एसजी) 100 ग्राम, 150 - 200 लीटर पानी में घोल कर फसल में छिड़काव करे।  

3. अदामा प्लेथोरा (नोवालुरॉन 5.25% + इंडोक्साकार्ब 4.5% एससी) 300 मिली, 150 - 200 लीटर पानी में घोल कर फसल में छिड़काव करे।  

4. एफएमसी कोरेजेन (क्लोराँट्रानिलिप्रोल 18.5% ) 60 मिली, 150 - 200 लीटर पानी में घोल कर फसल में छिड़काव करे। 

5. धानुका लार्गो (स्पाइनेटोरम 11.7% एससी) 180 - 200 मिली, 150 - 200 लीटर पानी में घोल कर फसल में छिड़काव करे। 


Conclusion | सारांश -  

किसान भाइयों आप को इस ब्लॉग में चने की फसल में आने इल्ली और फली छेदक कीट के नियंत्रण की संपूर्ण जानकारी के साथ इल्लियों के नियंत्रण के बेस्ट कीटनाशक के बारें में जानकारी दी हैं। बताएं गए किसी एक  कीटनाशक का उपयोग फसल में इल्ली की समस्या अनुसार उपयोग करें जिससे आप को  इल्ली के नियंत्रण में बेस्ट रिजल्ट मिलेगा।  


FAQ | बार - बार पूछे जाने वाले सवाल -  


1. चने में इल्ली के लिए कौन सी दवाई डालें? 

चने में इल्ली के नियंत्रण के के लिए कोराजन कीटनाशक का उपयोग 60 मिली/एकड़ अनुसार छिड़काव करें।   

2. इल्ली मारने की सबसे अच्छी दवा कौन सी है?

इल्ली के नियंत्रण के लिए आप धानुका EM 1 कीटनाशक का उपयोग 100  ग्राम/एकड़ अनुसार छिड़काव करें।  

3. सबसे बेस्ट कीटनाशक दवाई कौन सी है?

बेस्ट कीटनाशक अदामा प्लेथोरा (नोवालुरॉन 5.25% + इंडोक्साकार्ब 4.5% एससी) हैं।  

4. कीट नियंत्रण के लिए सबसे अच्छा तरीका कौन सा है?

फसल में कीटों के नियंत्रण के लिए शुरूआती अवस्था में चूसक कीटों के लिए स्टिकी ट्रैप और इल्लियों के नियंत्रण के लिए फेरोमोन ट्रैप का उपयोग करें।  

5. कीट नियंत्रण का सबसे सुरक्षित तरीका क्या है? 

फसलों में कीटों के नियंत्रण का सबसे अच्छा और सुरक्षित है कीटों के नियंत्रण की जैविक विधि।  


Farmer also read | किसानों द्वारा पढ़े जाने वाले लेख - 

1. chilli varieties: मिर्च की उन्नत किस्मे जो देगी आपको डबल उत्पादन

2. गन्ने की फसल में 100 टन उपज देने वाली उर्वरक की मात्रा

3. Syngenta Alika: सिंजेंटा अलिका कीटनाशक की सम्पूर्ण जानकारी

4. ridomil gold: सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी की सम्पूर्ण जानकारी

5. tomato leaf blight: टमाटर झुलसा रोग के लक्षण, प्रसार और नियंत्रण



लेखक | Author - 

भारतअ‍ॅग्री कृषि डॉक्टर

Back to blog

Leave a comment

Please note, comments need to be approved before they are published.


होम

वीडियो कॉल

VIP

फसल जानकारी

केटेगरी