antracol fungicide

antracol fungicide: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी - जाने उपयोग के फायदे

किसान भाइयों नमस्कार, स्वागत है BharatAgri Krushi Dukan वेबसाइट पर आज हम जानेंगे बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी (प्रोपीनेब 70% WP) से करें फसल में रोगों का नियंत्रण और जाने इसके उपयोग और फायदों की सम्पूर्ण जानकारी तथा फसल रोगों (Crop Disease) के नियंत्रण के स्मार्ट टिप्स।  

फसलों में रोगों की समस्या एक महत्वपूर्ण चुनौती हो सकती है जो किसानों की उपज को प्रभावित कर सकती है। इस समस्या का नियंत्रण करने के लिए एंट्राकोल फफूंदनाशी (प्रोपीनेब 70% WP) एक प्रमुख उपाय हो सकता है। यह एक प्रभावी फफूंदनाशी है जिसका उपयोग विभिन्न फसलों में रोगों की समस्या का समाधान करने के लिए किया जा सकता है।

 

बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी (प्रोपीनेब 70% WP) | Bayer Antracol Fungicide Propineb 70% WP -

Bayer Antracol

प्रोडक्ट का नाम 

एंट्राकोल फफूंदनाशी

प्रोडक्ट कंटेंट 

प्रोपीनेब 70% WP

कंपनी का नाम 

बायर 

उपयुक्त फसल 

धान, सोयाबीन, कपास, मूंगफली, मिर्च, टमाटर, बैगन, मूँग, आलू, निम्बू, संतरा, मक्का, अनार, अंगूर आदि सभी फसल 

रोगों का नियंत्रण 

स्कैब, पत्ती और फलों के धब्बे, अगेती और पछेती झुलसा, डाई बैक, मृदुरोमिल आसिता (डाउनी मिल्ड्यू), राइस ब्राउन लीफ स्पॉट, नैरो लीफ स्पॉट, बक आई रोट 

उपयोग मात्रा 

2 ग्राम/लीटर पानी

30 ग्राम/पंप (15 लीटर पंप )

300 ग्राम/एकड़ छिड़काव करें

 

बायर एंट्राकोल प्रोपीनेब 70% डब्ल्यूपी एक प्रमुख कवकनाशी है जो चावल, मिर्च, अंगूर, आलू और अन्य फसलों में विभिन्न रोगों के प्रति प्रतिरोध के लिए उपयोग होता है। इसका विशिष्ट स्पेक्ट्रम फसलों की सुरक्षा करने में मदद करता है और वनस्पति विकास को प्रोत्साहित करता है।

बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी की मुख्य विशेषताएँ | Key Features of Bayer Antracol Fungicide -

1. संपर्क कवकनाशी: बायर एंट्राकोल प्रोपीनेब एक संपर्क कवकनाशी होती है, जिसका मतलब है कि यह फसल के सतह पर आवश्यक होती है ताकि यह रोगों और फंगल रोगों को नियंत्रित सके।
2. विभिन्न फसलों में उपयोग: यह फसलों के बगैर मानव स्वास्थ्य को प्रभावित किए बिना धान, मिर्च, अंगूर, आलू और अन्य सब्जियों और फलों वाली फसलों में उपयोग होती है।
3. रोग प्रतिरोधकता: इसका उपयोग फसलों की रोग प्रतिरोधकता को बढ़ाने में मदद करता है, जिससे फसलों की सुरक्षा में सुधार होता है।
4. वनस्पति विकास: इसके प्रयोग से फसल के पत्तों का स्वास्थ्य बना रहता है और वनस्पति के विकास को प्रोत्साहित करता है।
5. फसल उत्पादन में सुधार: बायर एंट्राकोल प्रोपीनेब के प्रयोग से फसल के उत्पादन में सुधार होता है, क्योंकि यह फसल की गुणवत्ता में वृद्धि करता है।

बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी के उपयोग के फायदे | Benefits of using Bayer Antracol fungicide -

बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी (प्रोपीनेब 70% WP) एक प्रमुख फफूंदनाशी है जो फसलों में रोगों के खिलाफ प्रतिरोधक के रूप में प्रयोग होता है। यह फफूंदनाशी फसलों को विभिन्न प्रकार के रोगों  और फंगल रोगों से बचाने में मदद करता है और सभी रोगों को नियंत्रित करता हैं।   निम्नलिखित फायदों के साथ, बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी के उपयोग के कुछ महत्वपूर्ण फायदे हैं:

1. संपर्क कवकनाशी: यह एक संपर्क कवकनाशी है, जो फसलों के पत्तों पर समर्पित होता है और फसलों के खिलाफ प्रतिरोध प्रदान करता है।

2. फसल सुरक्षा: इसका उपयोग करके फसलों की सुरक्षा में मदद होती है, जिससे उत्पादन में सुधार होता है। यह फसलों को अनेक प्रकार के रोगों से बचाता है।

3. पत्तों की स्वास्थ्य सुरक्षा: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी फसल के पत्तों की स्वास्थ्य सुरक्षा करता है, जिससे उन्हें बीमारियों से बचाता है और फसल का विकास बेहतर होता है।

4. गुणवत्ता की वृद्धि: इसका उपयोग करने से फसलों की गुणवत्ता में सुधार होता है। यह फसलों की वृद्धि को प्रोत्साहित करके उत्पादन में वृद्धि करता है।

5. विकास को प्रोत्साहित करता है: फसलों के विकास को प्रोत्साहित करने में यह मदद करता है, जिससे उत्पादन की दर में वृद्धि होती है।

6. फंगल रोग प्रतिरोध: यह फसलों के खिलाफ फंगल रोगों का प्रतिरोध प्रदान करता है, जो फसलों की बेहतर सुरक्षा करता है।

7. मानव स्वास्थ्य के प्रति सावधानी: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी का उपयोग करने से फसलों की सुरक्षा होती है बिना मानव स्वास्थ्य पर कोई हानि पहुंचाए।

8. विभिन्न फसलों में उपयोगी: यह चावल, मिर्च, अंगूर, आलू जैसी विभिन्न फसलों में उपयोगी है और उन्हें रोगों से बचाने में मदद करता है।

9. संयोजन से मजबूती: बायर एंट्राकोल का अन्य कवकनाशी कीटनाशकों के साथ संयोजन करके फसलों की रक्षा में मजबूती देता है।

10. फसलों में उत्पादन में सुधार: इसके प्रयोग से फसलों में रोग प्रतिरोधकता में सुधार होता है, जिससे उत्पादन की दर में वृद्धि होती है।


FAQ | बार - बार पूछे जाने वाले सवाल -


1. प्रश्न: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी क्या है?

उत्तर: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी प्रोपीनेब 70% WP एक कवकनाशी है जो विभिन्न फसलों में रोगों के नियंत्रण में प्रयोग किया जाता है।

2. प्रश्न: फफूंदनाशी किस प्रकार के फसलों में उपयोगी है?

उत्तर: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी के उपयोग से चावल, मिर्च, अंगूर, आलू और अन्य सब्जियों में रोगों का नियंत्रण किया जा सकता है।

3. प्रश्न: इसका उपयोग किस प्रकार के रोगों के लिए किया जा सकता है?

उत्तर: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी फसलों में कई प्रकार के फंगल रोगों के खिलाफ प्रतिरोध प्रदान करता है, जैसे कि स्कैब, पत्ती और फलों के धब्बे, अगेती और पछेती झुलसा, डाई बैक, मृदुरोमिल आसिता (डाउनी मिल्ड्यू), राइस ब्राउन लीफ स्पॉट, नैरो लीफ स्पॉट, बक आई रोट 

4. प्रश्न: कैसे बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी का उपयोग करना चाहिए?

उत्तर: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी का सही डोज़ के साथ फसलों की प्रजातियों के अनुसार प्रयोग करना चाहिए।

5. प्रश्न: इसके उपयोग से क्या फायदे होते हैं?

उत्तर: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी के उपयोग से फसलों में रोग प्रतिरोधकता बढ़ती है और रोग तुरंत नियंत्रित हो जाते हैं।

6. प्रश्न: क्या बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी मानव स्वास्थ्य को प्रभावित करता है?

उत्तर: नहीं, बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी का उपयोग फसलों में किया जाता है और यह मानव स्वास्थ्य पर कोई नकरात्मक प्रभाव नहीं डालता।

7. प्रश्न: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी कितने दिनों के अंतराल पर प्रयोग करना चाहिए?

उत्तर: फफूंदनाशी का प्रयोग फसल के परिप्रेक्ष्य में की जाती है, जैसे कि फसल की प्रजाति, मौसम, और रोग की प्रस्तुति के आधार पर।

8. प्रश्न: क्या इसके प्रयोग से फसल की गुणवत्ता में सुधार होता है?

उत्तर: जी हां, बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी के प्रयोग से फसल की गुणवत्ता में सुधार होता है और उत्पादन भी बढ़ता है।

9. प्रश्न: क्या इसका उपयोग बिना किसान के परामर्श के किया जा सकता है?

उत्तर: नहीं, बेहतर नतीजों के लिए बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी का प्रयोग करने से पहले किसान को स्थानीय कृषि विशेषज्ञ से परामर्श करना चाहिए।

10. प्रश्न: क्या इसके प्रयोग से फसल में किसान का लाभ होता है?

उत्तर: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी के प्रयोग से फसल में रोगों का प्रतिरोध प्रदान होता है, जिससे किसान का उत्पादन बढ़ता है और उसका लाभ होता है।

 

Farmer also read | किसानों द्वारा पढ़े जाने वाले लेख -

1. स्टिकर का फसल में उपयोग और फायदे

2. धान की फसल में खरपतवार नियंत्रण कैसे करें?

3. फसल पर नीम ऑइल का उपयोग और फायदे

4. सोयाबीन के प्रमुख छिड़काव की सम्पूर्ण जानकारी।

5. जाने मक्के में कोनसे खरपतवार (Maize weed control) इस्तेमाल करें?



लेखक,

भारतअ‍ॅग्री कृषि डॉक्टर

Back to blog

Leave a comment

Please note, comments need to be approved before they are published.


होम

फसल जानकारी

प्रीमियम

केटेगरी

आर्डर