ridomil gold

ridomil gold: सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी की सम्पूर्ण जानकारी

किसान भाइयों नमस्कार, स्वागत है BharatAgri Krushi Dukan वेबसाइट पर। इस ब्लॉग में, हम आपको सिजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी Ridomil gold (मेटालैक्सिल 8% + मैनकोजेब 64% WP) के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे, जिसमें इसके उपयोग के लाभ, मूल्य, रोगों का नियंत्रण और उपयोग मात्रा जैसी महत्वपूर्ण जानकारी शामिल हैं ।

सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी (मेटालैक्सिल 8% + मैनकोजेब 64% WP) एक प्रभावी फफूंदनाशी है जो कई प्रकार के कवक और रोगों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करती है। यह उत्पाद एक व्यापक स्पेक्ट्रम कवकनाशी होता है और इसमें मल्टीसाइट मोड क्रिया होती है, जिससे यह संपर्क और प्रणालीगत दोनों क्रियाओं के माध्यम से रोगों को नियंत्रित करता है। 

Ridomil Gold


सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी | Syngenta Ridomil Gold Fungicide -

1. उत्पाद का नाम - रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी

2. उत्पाद सामग्री - मेटलैक्सिल 8% + मैनकोज़ेब 64% डब्ल्यूपी

3. कंपनी का नाम - सिंजेंटा


सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी (मेटालैक्सिल 8% + मैनकोजेब 64% WP)  की विशेषताएं -

1. रिडोमिल गोल्ड एक व्यापक स्पेक्ट्रम फफूंदनाशी है, जिसमें संपर्क और प्रणालीगत दोहरी क्रिया होती है।

2. रिडोमिल गोल्ड में निवारक और उपचारात्मक गुण दोनों पाए जाते हैं।

3. रिडोमिल गोल्ड एक शक्तिशाली फफूंदनाशी है, जिसका उपयोग ओमाईसेट्स कवक (पछेती झुलसा और डाउनी मिल्ड्यू) के नियंत्रण के लिए किया जाता है।

4. इसका उपयोग सब्जियों, अंगूर, नींबू, आलू, सजावटी पौधों, तम्बाकू और कपास जैसी विभिन्न फसलों में मिट्टी-जनित और पत्ती धब्बा रोगों को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है।

5. इसकी अति-प्रणालीगत अवशोषण और स्थानान्तरण क्षमताओं के कारण फसल को रोगों से सुरक्षित रखने में मदद करता है।

6. रिडोमिल गोल्ड फसलों को रोग प्रबंधन के लिए एक प्रमुख उपायक है, खासकर फफूंद समस्याओं के खिलाफ।

7. यह एक ऊर्जा संचयन क्षमता रखता है, जिससे फसल को अधिक लड़कू बनाता है और उसे फफूंद से बचाता है।

8. रिडोमिल गोल्ड का उपयोग किसानों के लिए समृद्धि और मानक उत्पादन की दिशा में बढ़ावा देने में मदद करता है।

9. इसका उपयोग फसलों के प्रति सुरक्षा और उत्पादन को बढ़ाने के लिए आवश्यक है, खासकर विभिन्न जलवायु में।

10. रिडोमिल गोल्ड विश्वभर में किसानों के लिए एक प्रमुख ग्रीन रिवोल्यूशन का हिस्सा है, जिससे फसलों की मानक और सुरक्षित उत्पादन की दिशा में कदम बढ़ाता है।


सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी के फसल में उपयोग और फायदें -

1. रिडोमिल गोल्ड का उपयोग (ridomil gold fungicide use) फसलों में आने वाले फफूंद जनित रोगों के नियंत्रण के लिए किया जाता है।

2. इसका छिड़काव अंगूर, आलू, मिर्च, गोभी, फूलगोभी, कपास, तंबाकू, टमाटर, और सब्जियों जैसी फसलों पर किया जा सकता है।

3. रिडोमिल गोल्ड मृदरोमिल रोग, अंगमारी रोग, गेरुआ, मृदरोमिल फफूंदी, धब्बा, एन्थ्राकनोज, लिफ स्पॉट, रस्ट, जई बैक, डाउनी मिल्डू, धंधला और हल्का फफूंदी जैसे सभी प्रमुख फफूंदी रोगों को नियंत्रित करता है।

4. रिडोमिल गोल्ड की मात्रा आमतौर पर 300 ग्राम प्रति एकड़ में 150 लीटर पानी में घोल कर छिड़काव की जाती है, या फिर 2 ग्राम प्रति लीटर पानी में उपयोग किया जा सकता है।

5. रिडोमिल गोल्ड स्पर्शीय और अंतरप्रवाही फफूंदीनाशक है, जिसमें मेटलैक्सिल 4% अंतरप्रवाही काम करता है और मैनकोजेब 64% स्पर्शीय काम करता है।

6. रिडोमिल गोल्ड एक प्रोटेक्टिव फफूंदनाशक है, जिसमें Metalaxyl और Mancozeb द्वारा पौधों को दोहरी सुरक्षा मिलती है।

7. इसे बीज उपचार के लिए भी उपयोग किया जा सकता है, जिससे फसल के अच्छे विकास को प्रोत्साहित किया जा सकता है।

8. रिडोमिल गोल्ड को आमतौर पर कीटनाशक (Insecticide), फफूंदनाशक (Fungicide), पोषक तत्त्व, या प्लांट ग्रोथ रेगुलेटर (Plant Growth Regulator) के साथ मिलाकर फसल में छिड़काव किया जा सकता है।

9. रिडोमिल गोल्ड का उपयोग किसानों के लिए फसल की सुरक्षा और उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद करता है।

10. यह एक महत्वपूर्ण घटक है जो फसलों को फफूंदनाशी समस्याओं से बचाने और उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है और किसानों के लिए मानक और सुरक्षित उत्पादन की दिशा में कदम बढ़ाता है।


रिडोमिल गोल्ड की महत्वपूर्ण जानकारी | Important information about Ridomil Gold -

1. नियंत्रण रोग - रिडोमिल गोल्ड उखटा रोग, सीडलिंग ब्लाइट, डैम्पिंग-ऑफ, रूट रोट, लेट ब्लाइट, एन्थ्रेक्नोज, और डाउनी मिल्ड्यू जैसे फफूंदनाशी रोगों को नियंत्रित करने में मदद करता है।

2. अनुशंसित फसलें - इसका उपयोग आलू, अंगूर, तंबाकू, सब्जी, नींबू, टमाटर, सजावटी फसलें और अन्य फसलों में किया जा सकता है।

3. रिडोमिल गोल्ड की उपयोग मात्रा निम्नलिखित रूपों में की जा सकती है: -

2 ग्राम प्रति लीटर पानी

30 ग्राम प्रति पंप (15 लीटर पंप)

300 ग्राम प्रति एकड़ छिड़काव करें


Conclusion | सारांश -  

सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी (मेटालैक्सिल 8% + मैनकोजेब 64% WP) एक प्रभावी फफूंदनाशी है जो कई प्रकार के कवक और रोगों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करती है। इसका उपयोग सब्जियों, फलों, और अन्य फसलों में फफूंदनाशी समस्याओं के खिलाफ किया जा सकता है। इसका उपयोग खासकर ओमाईसेट्स कवक (पछेती झुलसा और डाउनी मिल्ड्यू) के खिलाफ होता है और यह फसलों को रोगों से सुरक्षित रखने में मदद करता है। इसके अति-प्रणालीगत अवशोषण और स्थानान्तरण क्षमताओं के कारण फसल को रोगों से सुरक्षित रखने में मदद करता है और किसानों के लिए मानक और सुरक्षित उत्पादन की दिशा में कदम बढ़ाता है। इस फफूंदनाशक की उपयोग मात्रा और अनुशंसित फसलों की सूची भी शामिल है। रिडोमिल गोल्ड का उपयोग किसानों के लिए फसल की सुरक्षा और उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद करता है।


 FAQ | बार - बार पूछे जाने वाले सवाल -  


1. सिजेंटा रिडोमिल गोल्ड क्या है?

जवाब - सिजेंटा रिडोमिल गोल्ड एक प्रभावी फफूंदनाशी है जिसका उपयोग फसलों में फफूंदनाशी से बचाव के लिए किया जाता है.

2. सिजेंटा रिडोमिल गोल्ड कैसे काम करता है?

जवाब - यह फफूंदनाशी फसल के पर्णपिण्ड और मिट्टी में प्रणालीगत और संपर्क क्रिया करके कवकों को नष्ट करता है.

3. कितनी मात्रा में इसका उपयोग करना चाहिए?

जवाब - आमतौर पर, इसकी मात्रा होती है 2 ग्राम प्रति लीटर पानी में छिड़काव करने के लिए.

4. कितनी बार इसका उपयोग करना चाहिए?

जवाब - इसका उपयोग फफूंदनाशी की समस्याओं के आधार पर आवश्यकतानुसार किया जा सकता है, आमतौर पर 10-15 दिनों के अंतराल पर.

5. यह कितने प्रकार के फफूंदी रोगों के खिलाफ काम करता है?

जवाब - इससे अनेक प्रकार के फफूंदी रोगों जैसे रूट रोट, लेट ब्लाइट, और डाउनी मिल्ड्यू को नियंत्रित किया जा सकता है.

 6. यह किस प्रकार काम करता है, स्पर्शीय या प्रणालीगत?

जवाब - सिंजेंटा रिडोमिल गोल्ड फफूंदनाशी दोनों स्पर्शीय और प्रणालीगत काम करता है.

7. इसका उपयोग अन्य कीटनाशकों के साथ किया जा सकता है?

जवाब - हां, इसका उपयोग कीटनाशक, फफूंदनाशक, पोषक तत्त्व, या प्लांट ग्रोथ रेगुलेटर के साथ मिलाकर किया जा सकता है.

8. क्या इसका उपयोग बीज उपचार के लिए किया जा सकता है?

जवाब - हां, इसका उपयोग बीज उपचार के लिए भी किया जा सकता है.

9. क्या इसका उपयोग फसलों के प्रति सुरक्षा और उत्पादन को बढ़ाने के लिए आवश्यक है?

जवाब - हां, इसका उपयोग फसलों के प्रति सुरक्षा और उत्पादन को बढ़ाने के लिए आवश्यक है.

10. क्या इसके उपयोग से फसल को फफूंदनाशी समस्याओं से बचाया जा सकता है?

जवाब - हां, इसके उपयोग से फसल को फफूंदनाशी समस्याओं से बचाया जा सकता है.


Farmer also read | किसानों द्वारा पढ़े जाने वाले लेख - 

1. tomato leaf blight: टमाटर झुलसा रोग के लक्षण, प्रसार और नियंत्रण

2. soybean pod borer: सोयाबीन फली छेदक कीट - पहचान, नियंत्रण और प्रबंधन

3. pink bollworm chemical control: कपास की गुलाबी सुंडी नियंत्रण

4. antracol fungicide: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी - जाने उपयोग के फायदे 

5. armyworm in maize: मक्के में सैनिक सुंडी नियंत्रण A to Z जानकारी


लेखक

भारतअ‍ॅग्री कृषि डॉक्टर

कमेंट करें


होम

फसल जानकारी

प्रीमियम

केटेगरी

आर्डर