gehu ki variety

gehu ki variety : गेहू की टॉप 10 किस्मो की सम्पूर्ण जानकारी

किसान भाइयों नमस्कार, स्वागत है BharatAgri Krushi Dukan वेबसाइट पर। इस ब्लॉग में, हम (gehu ki variety) गेहूं की टॉप 10 किस्मों के बारे में बात करेंगे, जो कीटों और रोगों के प्रति प्रतिरोधी हो और मिट्टी गुणवत्ता, सिचाई की मात्रा, खाद की मात्रा अनुसार आप कम लागत में ज्यादा उत्पादन कैसे ले सकते है इसकी सम्पूर्ण जानकारी और स्मार्ट टिप्स के बारें में जानेंगे।  किसान गेहू की खेती  (Wheat Farming) के लिए उन्नत किस्मों (Best varieties of wheat) का चयन करने पर ध्यान देने के साथ-साथ सही खेती तकनीकी उपयोग करना बहुत जरुरी है । इससे न केवल उत्पादन में वृद्धि होती है, बल्कि खेती से प्राप्त मुनाफा भी बढ़ता है।


गेंहू की टॉप 10 किस्म | Top 10 gehu ki variety -

गेहूं की खेती में (gehu ki best variety) उन्नत किस्मों का चयन करने से किसान न केवल ज्यादा उत्पादन कर सकते हैं, बल्कि उन्हें ज्यादा मुनाफा भी हो सकता है।  गेहू की बेस्ट (gehu ki hybrid variety)  ज्यादा उत्पादन देने वाली किस्म (wheat variety list) निम्न है - 


1. Wheat Mukut Plus (MWL 6278) - 

गेहूं मुकुट प्लस (MWL 6278) यह गेहू की एक प्रमुख किस्म है जो 125-130 दिनों में परिपक्व हो जाती है। इसमें प्रचुर मात्रा में कल्ले फूटने की विशेषता होती हैं, जिससे यह अन्य गेहूं की तुलना में अलग होती है। इसके पुष्पगुच्छ मोटे और लंबे होते हैं, जो खासतौर पर इसकी सुंदरता को बढ़ाते हैं। इसके बीज चमकदार होते हैं और इससे बनी चपाती बहुत स्वादिष्ट होती है। यह गेहूं रोगों के प्रति प्रतिरोधी है और उच्च उपज क्षमता वाली है।


2. Wheat Goal Hybrid Variety  -  

गेहूं गोल हाइब्रिड किस्म इसकी परिपक्वता 130-135 दिनों में होती है। इसके पौधों की ऊचाई 98-105 सेमी है और यह प्रचुर मात्रा में कल्ले निकालती है। इसके स्पाइक लंबे होते हैं और इसकी दानों की रंगत एम्बर जैसी होती है। इसमें एक्स्टेंडेड एव्न्स (फैलाने वाली प्रजाति) होती हैं और इसके दाने बोल्ड एवं  मोटे होते है। यह रस्ट/जंग रोग के प्रति सहनशील है और इसकी दानो की गुणवत्ता चपाती बनाने के लिए आदर्श हैं।

गेहू की बुवाई करते समय बीजोपचार करना न भूलें जिसमें देखा जाए तो आप Dr. Bacto's Dermus (Trichoderma Viride) 10 मिली / 1 किग्रा बीजोपचार करें।


3. Wheat MWL 6655 - 

गेहूं एमडब्ल्यूएल 6655 एक उत्कृष्ट गेहूं की किस्म है इसकी परिपक्वता 125-130 दिनों में होती है। इसके दाने एम्बर रंग के होते हैं और यह दिखने में मध्यम बोल्ड होते हैं। इसकी बीज दर कम होती है, जिससे यह अधिक चारा प्रदान करती है और किसानों को अतिरिक्त लाभ पहुंचाती है। इसके प्रति पौधों में ज्यादा कल्ले निकलते है और प्रति पुष्पगुच्छ में बीज की अधिक संख्या होती है, जो इसकी उपज को बढ़ाता है। इसकी उपज अधिक होती है और यह अच्छी बाजार कीमत प्राप्त करने में सहायता पहुंचाती है। यह जंग/रस्ट रोग के प्रति सहनशील है और इससे बनी चपाती स्वादिष्ट होती है।


4. Shriram Super 111 Wheat - 

श्रीराम सुपर 111 गेहूं एक उत्कृष्ट गेहूं किस्म है जो भूरे रतुआ रोग के प्रति अत्यधिक सहनशील है। इसकी दाने आकर्षक, चमकदार और बोल्ड होते हैं और प्रति 1000 दाना का वजन 52 ग्राम होता है। इसके हर स्पाइक में अधिक संख्या में चमकदार और बोल्ड दाने होते है, और इसकी टर्मिनल ताप सहिष्णु होती है, जिससे यह जल्दी और देर से बुआई के लिए उपयुक्त है। इसकी बुआवि अवधि सितंबर-अक्टूबर में होती हैं।  


5. Shriram Super 303 Wheat  - 

श्रीराम सुपर 303 गेहूं एक प्रमुख गेहूं किस्म है जो भूरे रतुआ रोग और पत्तियों पर धब्बे के प्रति सहनशील है। इसकी बुआई की गहराई 5 सेमी होती है और यह मजबूत कल्ले और कटाई के प्रति सहनशील है, जिससे यह जल्दी और देर से बुआई दोनों के लिए उपयुक्त है। इसकी बुआई का मौसम रबी में होता है और इसकी बुआई विधि ड्रिलिंग होती है। बुआई का अंतर 20 सेमी x 10 सेमी होता है और इसमें आकर्षक, चमकदार और बोल्ड दाने और स्पाइक भरने की अवधि 99 दिन होती है।


6. Shriram Super 252 Wheat - 

श्रीराम सुपर 252 गेहूं उच्च अनुकूलनशीलता और जल्दी तथा देर से बुआई की उपयुक्तता के साथ-साथ अधिक कल्ले फूटने की विशेषता रखती है। इसमें बोल्ड-बड़े और सुनहरे दाने होते हैं और इसकी ऊंचाई उचित फसल की ऊंचाई में समाहित है, जिससे यह गेहूं के क्षेत्र में पसंदीदा बीज बना दिया है तथा  इस किस्म में मजबूत कल्लों के कारण गिरने की शिकायत भी नहीं रहती हैं।  


7. Syngenta SW-26 Wheat - 

सिजेंटा SW-26 गेहूं एक विशेष रिसर्च किस्म है। इसकी लंबाई माध्यम होती है, जो 90 से 95 सेंटीमीटर तक की हो सकती है। इसके दाने चमकदार और मोटे होते हैं। यह किस्म उच्च तापमान और सूखे को सहन करने की क्षमता रखती है। सिजेंटा SW-26 में कोई भी प्रकार के कीट या फंगस रोग नहीं होते, जिससे यह किस्म किसानों को बंपर पैदावार प्रदान कर सकती है। यह गेहूं की किस्म सिंचित क्षेत्रों के लिए सबसे उपयुक्त होती है। इस किस्म के अच्छे परिणाम रेताली मिट्टी में नहीं देखे जा सकते हैं। इस किस्म की नाली मोटी होती है, जिससे यह किस्म गिरने के प्रति सहनशील होती है।


8. Ajeet 109 Hybrid Wheat Seeds - 

अजीत 109 हाइब्रिड गेहूं यह एक उत्कृष्ट हाइब्रिड गेहूं की बीज किस्म है जिसकी अवधि 105-110 दिनों में होती है। इसके पौधों की ऊचाई 90-100 सेमी है और इसका अनाज आकर्षक एम्बर रंग का होता है और यह मध्यम बोल्ड होता है। प्रति गुच्छ में 45-50 दाने होते हैं और यह उपज क्षमता 45-50 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक पहुंच सकती है। इसकी उपज है उच्च स्थिरता की और यह नमी और तनाव के प्रति सहनशील है। पत्ती और तने के जंग के प्रति भी यह सहनशील है।

गेहू के फुटाव के लिए Mahadhan MAP 12:61:00 + IFC Scuba Formula 9 @ 15 लीटर पानी में मिलाकर छिड़कव करें।

 

9. Ajeet 102 Hybrid Wheat Seeds - 

अजीत 102 हाइब्रिड गेहूं यह हाइब्रिड गेहूं की एक बीज किस्म है जिसकी अवधि 100-102 दिनों में होती है। इसके पौधों की ऊचाई 80-90 सेमी होती है और इसका अनाज आकर्षक एम्बर रंग का होता है और मध्यम बोल्ड होता है। प्रति गुच्छ में 40-45 दाने होते हैं और यह उपज क्षमता 50-55 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक पहुंच सकती है। यह कीटों पर प्रतिक्रिया में सहनशील है और इसकी उपज क्षमता उच्च होती है। यह नरम और स्वादिष्ट चपाती बनाने के लिए उपयुक्त है, और इसकी बाजार में उच्च दरें होती हैं। इसे न्यूनतम सिंचाई में भी अधिक उपज करने की क्षमता होती है और यह जंग रोग के प्रति प्रतिरोधी होती है।


10. Ajeet 349 Hybrid Wheat Seeds - 

अजीत 349 हाइब्रिड गेहूं यह हाइब्रिड गेहूं की एक उत्कृष्ट बीज किस्म है जिसकी अवधि 135-140 दिनों में होती है। इसके पौधों की ऊचाई 80-90 सेमी होती है और प्रति गुच्छ में 45-50 दाने होते हैं। यह किस्म उपज क्षमता में उच्च होती है, जिससे 65-70 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की उपज प्राप्त की जा सकती है। यह कीटों और रोगों के प्रति सहनशील है और इसकी उच्च उपज क्षमता उसे विशेष बनाती है। 


Conclusion | सारांश -  

गेहूं की खेती में सफलता प्राप्त करने के लिए उत्कृष्ट गेहूं की किस्मों का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है।  किसान भाइयों इस ब्लॉग में हमने आपको गेहूं की टॉप 10 किस्मों (gehu ki variety) के बारे में जानकारी दी है, जो कीटों और रोगों के प्रति प्रतिरोधी हैं। इन किस्मों में से प्रत्येक का अपनी विशेषता है और वे विशेष आवासीय और मौसमी शर्तों के लिए उपयुक्त हैं। यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि आप अपने क्षेत्र में सबसे अच्छी गेहूं की किस्म का चयन करें, ताकि आपको ज्यादा उत्पादन और उच्च मुनाफा प्राप्त हो सके। खेती में नई ऊर्जा और तकनीक का उपयोग करके, हम उम्मीद करते हैं कि आप अच्छे रिजल्ट्स प्राप्त करेंगे और अधिक आर्थिक संवृद्धि की ओर बढ़ेंगे। सफल खेती की कामना के साथ, सभी किसान भाइयों को हमारी शुभकामनाएँ!


FAQ | बार - बार पूछे जाने वाले सवाल -  


1. कौन-कौन सी गेहूं की किस्में उच्च उपज देती हैं?

जवाब - मुकुट प्लस (MWL 6278), गोल हाइब्रिड, एमडब्ल्यूएल 6655, श्रीराम सुपर 111, श्रीराम सुपर 303, श्रीराम सुपर 252, सिजेंटा SW-26, अजीत 109, और अजीत 102 गेहूं की किस्में।

2. गेहूं की किस किस्म को सिंचित क्षेत्रों के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है?

जवाब - सिजेंटा SW-26 को सिंचित क्षेत्रों के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है।

3. गेहूं की किस्मों का बुआई का समय कब होता है?

जवाब - इन किस्मों की बुआई का समय रबी मौसम में होता है।

4. गेहूं की किस्मों में चपाती बनाने के लिए कौन-कौन सी किस्म सबसे उपयुक्त हैं?

जवाब - अजीत 102 हाइब्रिड और श्रीराम सुपर 303 गेहूं चपाती बनाने के लिए अत्यंत उपयुक्त हैं।

5. गेहूं की किस्मों में जल्दी तथा देर से बुआई की उपयुक्तता कौन-कौन सी है?

जवाब - श्रीराम सुपर 111 और अजीत 109 गेहूं में जल्दी और देर से बुआई के लिए उपयुक्त हैं।

6. गेहूं की किस्मों में कौन-कौन सी किस्म रेताली मिट्टी के लिए सही हैं?

जवाब - सिजेंटा SW-26 गेहूं रेताली मिट्टी में उत्कृष्ट परिणाम प्रदान करती है।

7. गेहूं की उपज को बढ़ाने के लिए कौन-कौन सी किस्में सबसे उपयुक्त हैं?

जवाब - अजीत 349 हाइब्रिड और सिजेंटा SW-26 गेहूं की उपज को बढ़ाने के लिए सबसे उपयुक्त हैं।



लेखक - 

भारतअ‍ॅग्री कृषि डॉक्टर

कमेंट करें


होम

वीडियो कॉल

VIP

फसल जानकारी

केटेगरी