chilli varieties

chilli varieties: मिर्च की उन्नत किस्मे जो देगी आपको डबल उत्पादन

किसान भाइयों नमस्कार, स्वागत है BharatAgri Krushi Dukan वेबसाइट पर। मिर्च की खेती कृषि क्षेत्र में एक मुनाफाकर प्रवृत्ति है। इस ब्लॉग में, हम आपको बताएंगे कि मिर्च की खेती में अधिक उत्पादन कैसे प्राप्त कर सकते हैं और कौन सी उन्नत किस्में सबसे बेहतरीन हैं। जानें कैसे अपनी मिर्च की खेती को विकसित करें और बेहतर प्राप्ति के अवसर प्राप्त करें। 

मिर्च, भारतीय खाद्य संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसमें खास तीखापन होना अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। यह एक न केवल मसालों का महत्वपूर्ण स्रोत होता है, बल्कि भारत के किसानों के लिए एक लाभकारी व्यापारिक फसल भी है।

मिर्च की सफल खेती के लिए, किसानों को अपने क्षेत्र की विशेष जलवायु और भूमि की विशेषताओं का विचार करना होगा। इसके साथ ही, उन्हें यह भी ध्यान में रखना होगा कि वे किस प्रकार की मिर्च की किस्म चुनते हैं, क्योंकि यह उनके उत्पादन और लाभ को प्रभावित कर सकता है।

किसान अपने क्षेत्र में सबसे अच्छी मिर्च की किस्म का चयन करके अधिक पैदावार और लाभ हासिल कर सकते हैं। इससे ही न केवल उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होती है, बल्कि वे भारतीय खाद्य संस्कृति को भी सजीव रखते हैं, क्योंकि मिर्च बिना किसी दोस्ते के खाने में चुट्ट मिलाती है।


टॉप मिर्च की उन्नत किस्में और उनकी विशेषताएँ  | Top Best Chilli Variety -

मिर्च की उन्नत किस्मों में कुछ प्रमुख और पूरी दुनिया में प्रसिद्ध किस्में हैं, जिनकी विशेषताएँ निम्नलिखित हैं:

👉वीएनआर रानी 332 एफ1 हाइब्रिड मिर्च |  VNR Rani 332 F1 Hybrid Chilli -

1. रानी 332 एफ1 हाइब्रिड मिर्च एक प्रमुख मिर्च की किस्म है जो उच्च पैदावार और अच्छी गुणवत्ता के लिए जानी जाती है।

2. यह मिर्च किस्म अच्छी पैदावार देती है, जिससे किसानों को अधिक उत्पादन हासिल करने में मदद मिलती है। 

3. इसका विकास तेजी से होता है, जिससे किसान जल्दी ही उपयोग के लिए मिर्च हासिल कर सकते हैं।

4. इस किस्म में ज्यादा तीखापन होता हैं।  

5. इस किस्म के मिर्च मुलायम और चमकदार होते हैं।  

6. इस किस्म की पहली तुड़ाई 45 से 50 दिन में कर सकते हैं।  

7. इस किस्म की मिर्च मद्धम हरी होती है।  

8. इस किस्म की लम्बाई 12 से 14 Cm होती हैं और गोलाई 1 से 2 Cm तक होती है।  

9. इसे आप तीनो मौसम (खरीब, रबी और जायद) लगा सकते हैं।  


👉महिको तेजा 4 (MHCP-310) मिर्च | Mahyco Teja 4 (MHCP-310) Chilli -

1. दोहरी उपयोगिता: इस किस्म की मिर्च दोहरी उपयोगिता प्रदान करती है, क्योंकि यह मसालों के रूप में और फ्रेश सब्जियों के लिए उपयोग किया जा सकता है।

2. फल की विशेषता: इस मिर्च की किस्म के फल अधिक वजन और गहरे हरे रंग के होते हैं, जो खाद्य में अच्छी तरह से प्रस्तुति करते हैं।

3. चमकदार लाल फल: इस किस्म के मिर्च के फल चमकदार लाल रंग के होते हैं, जिससे उन्हें बाजार में आकर्षक दिखाई देते हैं।

4. उपज की महत्वपूर्णता: यह मिर्च किस्म अधिक पैदावार देने के लिए प्रसिद्ध है, जिससे किसानों को अधिक लाभ होता है और उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होती है।

5. रोग और कीट प्रतिरोधी: यह किस्म रोग और कीटों के प्रति सहनशील है, जिससे किसानों को प्राकृतिक रूप से बचाव करने में मदद मिलती है।

6. खेती में उपयोग: इस मिर्च की किस्म का उपयोग खेती में अधिक उपज और बेहतर गुणवत्ता के लिए किया जाता है, और यह उचित देखभाल और पोषण के साथ उपज को बढ़ावा देती है।


👉महिको नवतेज (MHCP 319) | Mahyco  NAVTEJ (MHCP 319) Chilli Seeds -

1. तीखापन और शेल्फ लाइफ: इस मिर्च की किस्म मध्यम से उच्च तीखापन और लंबी शेल्फ लाइफ के साथ आती है, जिससे यह फसल को स्टोर करने के लिए उपयुक्त होती है।

2. कीटों और रोगों के प्रति सहनशील: इस मिर्च की किस्म कीटों और रोगों के प्रति  से सहनशील होती है, जिससे किसानों को कीटों और रोगों  से बचाव करने में मदद मिलती है।

3. फल की लंबाई और व्यास: इस मिर्च की किस्म के फल की लंबाई आमतौर पर 8 से 10 सेमी के बीच होती है और फल का व्यास 0.8 से 0.9 सेमी के बीच होता है।

4. फल का रंग: फल अपरिपक्व होने पर गहरे हरे रंग का होता है, और परिपक्व होने पर चमकदार लाल हो जाता है, जिससे यह फल आकर्षक दिखता है।

5. फल की सतह: फल की सतह पर मध्यम झुर्रियाँ होती हैं, जो इसकी बाहरी बनावट को आकर्षित करती हैं।

6. इस किस्म की मिर्च उच्च गुणवत्ता वाली होती है, और इसका उपयोग खासतर सूखी मिर्च बनाने और व्यापार के लिए किया जा सकता है।


👉सिंजेंटा हॉट पेपर एचपीएच-5531 मिर्च बीज | Syngenta Hot Pepper HPH-5531 Chilli Seeds -

1. पौधा की स्थिति: इस मिर्च का पौधा खड़ा होता है, जिससे यह स्थिर और मजबूत रहता है।

2. फसल की गुणवत्ता: यह मिर्च शीघ्र और अच्छी उपज देती है, जिससे किसानों को अधिक लाभ होता है।

3. तीखापन: इसकी तीखापन की मात्रा मध्यम होती है, जिससे यह मसालों बनाने के लिए अच्छी तरह से उपयोग की जा सकती है।

4. रंग: इस मिर्च के फल झुर्रीदार मेड के साथ गहरा चमकीला लाल होता है, जिससे यह फसल बाजार में आकर्षक दिखती है।

5. आकार: इस मिर्च का आकार मध्यम होता है, जिसकी लम्बाई लगभग 15 सेमी और व्यास 1.2 सेमी होता है।

6. उपज: हरे ताजे में इसकी उपज लगभग 12 से 15 मीट्रिक टन प्रति एकड़ होती है, और लाल सूखे में इसकी उपज लगभग 1.5 से 2 मीट्रिक टन प्रति एकड़ होती है।

7. बुवाई का समय: इसका बुवाई का समय खरीफ में किया जाता है, जिससे यह खरीफ की फसल के रूप में उगाई जाती है।


👉ननहेम्स इंदु एफ-1 हाईब्रिड हॉट पेपर मिर्च बीज | Nunhems Indu F-1 Hybrid Hot Pepper Chilli Seeds -

1. पौधे की स्थिति: इस मिर्च की किस्म के पौधे प्रबल और ओजस्वी होते हैं, और ये वास भी वाले होते हैं, जिससे मिर्च का पौधा मजबूती से खड़ा रहता है।

2. पत्तों का रंग: पत्ते गहरे हरे के छोटे होते हैं, जिससे पौधे का बनावट आकर्षक लगता है।

3. शाखाओं की असर क्षमता: इस मिर्च के पौधे भारी असर क्षमता वाले होते हैं, जिनमें अच्छी शाखाएं होती हैं, जो अधिक फलों को समर्थन देती हैं।

4. परिवहन के लिए उपयुक्त: इस मिर्च की किस्म लंबी दूरी के लिए परिवहन के लिए उपयुक्त होती है, जिससे फसल को बाजार तक पहुंचाने में मदद मिलती है।

5. रोग और कीट प्रतिरोधी: यह मिर्च किस्म प्रमुख रोगों और कीटों के प्रति सहनशील होती है।  

6. उपज: यह मिर्च किस्म अधिक उपज देने के लिए प्रसिद्ध है, जिससे किसानों को अधिक लाभ होता है।

7. बुवाई का मौसम: इसका बुवाई का मौसम खरीफ और रबी में किया जा सकता है।

8. वृद्धि अवधि: इसकी वृद्धि अवधि मई-जून और सितंबर-अक्टूबर के बीच होती है।  


👉बायोसीड अजंता हॉट पेपर मिर्च के बीज | Bioseed Ajantha Hot Pepper Chilli Seeds -

1. फल और विषाणु के प्रति उच्च सहनशीलता: इस मिर्च की किस्म में फल और विषाणु के प्रति उच्च सहनशीलता होती है, जिससे यह फसल रोगों और कीटों से अधिक सुरक्षित रहती है।

2. रंग: इस मिर्च का फल सूखा लाल रंग का होता है।

3. पौधे की आदत: इस किस्म के पौधे अर्ध फैलाव की आदत रखते हैं, जिससे यह मिर्च का पौधा आकर्षक और व्यापक बनाता है।

4. ताजे फलों का रंग: ताजे फलों का रंग गहरा हरा होता है, जो खाद्य में अच्छी तरह से प्रस्तुत करता है।

5. परिपक्व फलों का रंग: परिपक्व फलों का रंग गहरा लाल होता है, जो इसके फलों को खासी चमकदार बनाता है।

6. फल की त्वचा का प्रकार: फल की त्वचा चिकनी होती है, जिससे यह फलों को और भी आकर्षक बनाता है।

7. फल की लम्बाई: इस मिर्च के फल की लम्बाई आमतौर पर 6 से 8 सेमी के बीच होती है।

8. फल का वजन: फल का वजन इस मिर्च के लिए आमतौर पर 6 से 7 ग्राम होता है।

9. तीखापन: इस मिर्च की किस्म का तीखापन उच्च होता है, जिससे यह मसालों बनाने के लिए अच्छी तरह से उपयोग की जा सकती है।


👉वीएनआर 109 F1 हाइब्रिड मिर्च बीज | VNR 109 F1 Hybrid Chilli Seeds -

1. थर्मल सेट के साथ प्रारंभिक संकर: इस किस्म के मिर्च के पौधे उत्कृष्ट थर्मल सेट के साथ प्रारंभिक रूप में संकर करते हैं, जिससे यह फसल के विकास को बढ़ावा देता है।

2. तीखापन: इस किस्म की मिर्च का तीखापन मध्यम होता है, जिससे यह मिर्च स्वादिष्ट और उपयोगी होती है।

3. फल की आवरण: इस मिर्च की किस्म में फल का आवरण फैला हुआ होता है, जिससे यह फलों को आकर्षक बनाता है।

4. तुड़ाई का समय: तुड़ाई का समय इस किस्म के मिर्च के लिए 40-45 दिन होता है।

5. फल का औसत आकार: फल का औसत आकार इस मिर्च के लिए 13-17 सेंटीमीटर होता है।

6. फल का औसत व्यास: फल का औसत व्यास इस मिर्च के लिए 1.4-1.7 सेंटीमीटर होता है।


Conclusion | सारांश - 

इस ब्लॉग का निष्कर्ष यह है कि मिर्च की खेती में उन्नत किस्मों का चयन करके किसान अपनी उत्पादन को बढ़ा सकते हैं। उन्नत किस्में मिर्च की खेती के लिए मिर्च पौधों की अधिक पैदावार, बेहतर गुणवत्ता, और अधिक मुनाफा प्रदान कर सकती हैं। विशेषज्ञ सलाह और उचित देखभाल के साथ, किसान मिर्च की खेती में अधिक सफल हो सकते हैं। मिर्च की खेती एक लाभकारी व्यवसाय हो सकता है, और यह किसानों को अच्छा मुनाफा दिला सकता है जो उन्नत किस्मों का चयन करके उत्पादन में वृद्धि करना चाहते हैं। इसलिए, उन्नत किस्मों के साथ मिर्च की खेती करने का प्रयास करें और खेती के क्षेत्र में नए दिशाओं की ओर बढ़ें।


 FAQ | बार - बार पूछे जाने वाले सवाल -  

1. प्रमुख मिर्च की खेती किस्में कौन-कौन सी हैं?

जवाब - आपके क्षेत्र में स्थानीय जलवायु और माटी के आधार पर, प्रमुख किस्में हैं: वीएनआर रानी 332 एफ1, महिको तेजा 4, और मिहिर सुपर.

2. मिर्च की खेती के लिए सही जलवायु क्या है?

मिर्च की खेती के लिए उपयुक्त जलवायु उष्णकटिबंधीय होती है, जिसमें अच्छी धूप और अच्छी वर्षा का संतुलन होता है.

3. मिर्च पौधों के लिए सही रोपण कब करें?

जवाब - मिर्च पौधों के लिए सही रोपण बरसात के बाद या शुरूआती गर्मियों में करें.

4. मिर्च की खेती के लिए सही बुवाई कब करें?

जवाब - मिर्च की खेती के लिए बुवाई को खरीफ और रबी में करें, उपयुक्त मौसम के आधार पर।

5. कितनी तरह की मिर्च की किस्में होती हैं?

जवाब - मिर्च की खेती में हरी, लाल, और ड्राई मिर्च की कई प्रमुख किस्में होती हैं।

6. मिर्च के बीज कहाँ से खरीदें?

जवाब - मिर्च के उन्नत बीज विक्रेता से खरीदें जो गुणवत्ता और प्रमाणितता की गारंटी देते हैं।

7. मिर्च की फसल में कितना प्रति एकड़ उत्पादन होता है?

जवाब - मिर्च की फसल में उत्पादन क्षेत्र के आधार पर भिन्न हो सकता है, लेकिन आमतौर पर 12 से 15 मेट्रिक टन प्रति एकड़ होता है।

8. मिर्च की खेती से कितना मुनाफा कमाया जा सकता है?

मिर्च की खेती से किसान उच्च मुनाफा कमा सकते हैं, खासकर उन्नत किस्मों का प्रयोग करके।


Farmer also read | किसानों द्वारा पढ़े जाने वाले लेख -

1. pink bollworm chemical control: कपास की गुलाबी सुंडी नियंत्रण

2. antracol fungicide: बायर एंट्राकोल फफूंदनाशी - जाने उपयोग के फायदे 

3. armyworm in maize: मक्के में सैनिक सुंडी नियंत्रण A to Z जानकारी

4. tikka disease of groundnut: मूंगफली में टिक्का रोग नियंत्रण

5. soybean illi ki dawai: सोयाबीन में इल्ली नियंत्रण की दवा



लेखक

भारतअ‍ॅग्री कृषि डॉक्टर

कमेंट करें


होम

फसल जानकारी

प्रीमियम

केटेगरी

आर्डर