🌱बैगन की फसल में माहू, सफेद मक्खी और फुदका नियंत्रण👌

🌱बैगन की फसल में माहू, सफेद मक्खी और फुदका नियंत्रण👌

✅आजही घर बैठे बैगन सुरक्षा किट खरेदी करने के लिए यह क्लिक करें - https://krushidukan.bharatagri.com/collections/special-kits/products/brinjal-sucking-pest-protection-kit

============================================================

👨‍🌾नमस्कार किसान भाइयों ! 🙏

🌱भारतअ‍ॅग्री मे आपका स्वागत है 💐

✅आजका विषय - 🌱बैगन की फसल में माहू, सफेद मक्खी और फुदका नियंत्रण👌

सब्जियों की खेती में बेंगन एक महत्वपूर्ण फसल है। बैंगन उष्णकटिबंधीय इलाक़ों में उगाई जाती है। पौष्टिक होने के साथ-साथ बैंगन का आयुर्वेदिक औषधी में भी इसका महत्व है। भारत में, इसकी खेती लगभग सभी राज्यों में की जाती है। इसकी अच्छी खेती करने के लिए किसानो को मुख्यतः बीज मिट्टी चयन के आलावा कीट तथा रोगो से बचाव पर ध्यान देना चाहिए। बैंगन में ज्यादातर पानी, प्रोटीन, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट होते हैं और इसमें कैलोरी और वसा कम होते हैं। आयुर्वेदिक औषधीय गुणों के साथ-साथ इसे मधुमेह के रोगियों के लिए उपयोगी माना जाता है। फसल में सही समय रहते कीट और रोगो का प्रतिबधक उपाय नहीं किया तो उत्पादन में 50 - 70 % तक कमी देखने को मिल सकती है।

✅बैगन की फसल में लगने वाले रस चूसक कीट ?
👉बैगन की फसल में लगने वाले रस चूसक कीट जैसे - सफेद मक्खी, माहु , हरा तेला , थ्रिप्स, और मकड़ी की समस्या फसल में ज्यादा होती है।

✅बेंगन के फसल में रस चूसक कीटो के लक्षण -
👉रस चूसक कीट फसल के पतियों का सारा रस चूस लेते है और फसल में पीला पन आना शुरू हो जाता है।
👉रस चूसक कीटो समस्या के कारन हमें फसल को देखने पर ऐसा लगता है की इसमें किसी पोषक तत्वों की कमी है या फिर पानी के कमी जैसे लझण दिखाई देते है
👉कीटो के अधिक प्रकोप से पत्तिया ऊपर तथा साथ में निचे की और मुड़ी हुई दिखाई देती है।
👉इस समस्या के कारन पोधो की पत्तिया सूखने लगती है।
👉और समस्या अधिक होने पर पौधे मरना शुरू हो जाते है।
👉रस चूसक कीटो की समस्या के कारन फसल उत्पादन में 50 - 60 % कमी होती है।

✅प्रतिबंधक उपाय -
👉फसल में रस चूसक कीटो की समस्या नहीं आये इस लिए हमें उर्वरक प्रबंधन पर ध्यान देना जरुरी हे, ध्यान रखे फसल में नाइट्रोजन की मात्रा अधिक ना दे और समस्या आने ले पहले ही हमें स्टिकी ट्रैप जैसे - पिले और नील कलर के ट्रैप का उपयोग प्रति एकड़ 20 - 25 करना चाहिए।
👉तथा साथ में ही हमें नीम तेल 30 मिली / पंप छिड़काव करना चाहिए।

✅रस चूसक कीटो बेस्ट किटनाशी -
👉एसिटामिप्रिड का 20% WP - 100 ग्राम प्रति एकड़
👉थियामेथोक्सम 25% WG - 80 - 100 ग्राम प्रति एकड़
👉इमिडाक्लोप्रिड 17.80% SL - 100 मिली प्रति एकड़
👉फिप्रोनिल 5% एससी - 400 मिली प्रति एकड़
👉स्पाइरोमिफेन 240 SC 22.9% ww - 200 मिली प्रति एकड़
👉स्पिरोटेट्रामैट 11.01% + इमिडाक्लोप्रिड 11.01% w/w SC (240 SC .) - २०० मिली प्रति एकड़

✅बैगन मे चूसक किट का प्रकोप अधिक हो जाने पर नीचे दिए गए बैगन सुरक्षा किट का उपयोग अवश्य करें -
1️⃣S.K Agrotech. - पिले और नील स्टिकी ट्रैप 20 - 25 प्रति एकड़
2️⃣धानुका - जैपैक 80 मिली प्रति एकड़
3️⃣आनंद एग्रो केयर- आनंद वेट गोल्ड 25 मिली प्रति एकड़
4️⃣जियोलाइफ - नैनो फर्ट 19:19:19 200 ग्राम प्रति एकड़
👉उपयोग विधि - 150 -200 लीटर पानी में अच्छे से मिलकर एक एकड़ फसल में छिड़काव करे

✅इस किट की कीमत -
⚡MRP - 971
⚡BA Price - 799
⚡Saving - 172
⚡Discount - 17 %

✅आजही घर बैठे बैगन सुरक्षा किट खरेदी करने के लिए यह क्लिक करें - https://krushidukan.bharatagri.com/collections/special-kits/products/brinjal-sucking-pest-protection-kit

और पाए -
⚡फ्री होम डिलीवरी
⚡भारी छूट
⚡और 100 % कॅश ऑन डिलीवरी

आपको यह वीडियो 📷कैसा लगा यह हमें कमेंट में बताना न भूलें , और इस वीडियो को अपने अन्य 🧑‍🌾किसान मित्रों के साथ भी जरूर शेयर करें👍

✅हमारे अन्य सोशल मीडिया पेजेस -
👉भारतअ‍ॅग्री ऍप - http://bit.ly/2ZyV2yl
👉भारतअ‍ॅग्री कृषि दुकान - https://krushidukan.bharatagri.com/
👉फेसबुक हिन्दी - https://bit.ly/36KuGOe
👉फ़ेसबुक मराठी - https://bit.ly/36KuGOe
👉इंस्टाग्राम - https://bit.ly/3B9Ny8G
👉वेबसाइट - www.bharatagri.com
👉लिंक्ड इन - https://bit.ly/3TWtK0Z
👉भारतअ‍ॅग्री मराठी यूट्यूब चैनल - https://bit.ly/3Ryf3zt
👉भारतअ‍ॅग्री हिन्दी यूट्यूब चैनल - https://bit.ly/3L2cRxF

#bharatagri #agriculture #hindi #farming #bharatagrihindi #kisan #kheti #fasal

कार्ट

आपका कार्ट खली है

खरीदारी शुरू करें

ऑप्शन