🌱गेंहू की खेती - 30 से 35 क्विंटल उत्पादन निकालने का फार्मूला👌

🌱गेंहू की खेती - 30 से 35 क्विंटल उत्पादन निकालने का फार्मूला👌

 

👨‍🌾नमस्कार किसान भाइयों ! 🙏

🌱भारतअ‍ॅग्री मे आपका स्वागत है 💐

✅आजका विषय - 🌱गेंहू की खेती - 30 से 35 क्विंटल उत्पादन निकालने का फार्मूला👌

भारत में गेहूँ एक मुख्य फसल है। गेहूँ का लगभग 97% क्षेत्र सिंचित है। भारत में पंजाब, हरियाणा एवं उत्तर प्रदेश मुख्य फसल उत्पादक क्षेत्र हैं।

✅जलवायु
गेहूँ की खेती के लिए समशीतोषण जलवायु की आवश्यकता होती है, इसकी खेती के लिए अनुकूल तापमान बुवाई के समय 20-25 डिग्री सेंटीग्रेट उपयुक्त माना जाता है।

✅मिट्टी या भूमि
गेहूँ की खेती के लिए दोमट भूमि सर्वोत्तम मानी जाती है, लेकिन इसकी खेती बलुई दोमट,भारी दोमट, मटियार तथा मार एवं कावर भूमि में की जा सकती है।

✅खेत की तैयारी
पहली जुताई मिटटी पलटने वाले हल से तथा बाद में डिस्क हैरो या कल्टीवेटर से 2-3 जुताईयां करके खेत को समतल करते हुए भुरभुरा बना लेना चाहिए।

✅गेहू की प्रमुख किस्मे -
👉श्रीराम सुपर 111 - 80 - 85 दिन
👉श्रीराम सुपर 252 - 95 - 97 दिन
👉करण वंदना (DBW 187 ) - 110 - 120 दिन
👉सुजाता - 120 - 130 दिन
👉सोनालिका - 110 - 120 दिन
👉पूसा तेजस (HI 8759 ) - 115 - 125 दिन
👉पूसा मंगल (HI 8713 ) -120 - 125 दिन
👉पूसा यशस्वी (HD 3226 ) - 120 - 130 दिन
👉पूसा अनमोल (HI 8737 ) - 125 -130 दिन
👉श्रीराम सुपर 303 - 99 - 100 दिन

✅प्रति एकड़ बीज की मात्रा
34 - 40 किलो ग्राम प्रति एकड़

✅बुवाई का सही समय -
👉गेहूं की बुवाई का इष्टतम समय बढ़ते क्षेत्रों में व्यापक रूप से भिन्न होता है।
👉यह निम्न बातों पर निर्भर करता है किस्म, मौसम की स्थिति, मिट्टी का तापमान, सिंचाई की सुविधा और भूमि की तैयारी।

👉बारानी गेहूं की बुवाई सामान्यत: अक्टूबर के दूसरे पखवाड़े से नवम्बर की शुरुआत तक की जाती है।
👉विशेष परिस्थितियों में दिसंबर के महीने में भी गेहूं की बुवाई की जाती है। देर से बोए गए गेहूं में, केवल कम अवधि किस्मों का प्रयोग करें।

✅बीजोपचार -
👉बीज को पहले रासायनिक फफूंदीनाशक से उपचारित करने के बाद जैविक कल्चर से छाया में उपचारित कर तुरंत बुआई करें, जिससे जैविक बैक्टीरिया जीवित रह सकें।
👉फसल को उकठा रोग से बचाने के लिए बीज को बुआई के पूर्व फफूंदीनाशक वीटावैक्स पॉवर 3 ग्राम दवा प्रति किलो बीज की दर से उपचारित करें। इसके पश्चात एक किलो बीज में राइजोबियम कल्चर 5-6 ग्राम तथा ट्राइकोडर्मा विरडी 2 - 3 मिली मिलाकर उपचारित करें।

✅बुवाई का तरीका
👉गेहू की बुवाई 2 तरीको से होती हे छिटका विधि से और कतारों में।
कतारों में बुवाई के समय पौधे से पौधे की दुरी 10 सेंटीमीटर और पंक्ति से पंक्ति की दुरी 22 सेंटीमीटर रखे ।

✅उर्वरक प्रबंधन -
👉खेत की तैयारी करते समय 2 - 3 टन अच्छी सड़ी हुई गोबर की खाद ले और उसमे 1 लीटर कम्पोस्टिंग बैक्टीरिया मिलाकर खेत में डालें।
👉प्रति एकड़ रासायनिक खाद 4 - 6 किलो रीजेंट अल्ट्रा , 50 किलोग्राम DAP , 50 किलोग्राम पोटाश , 25 किलोग्राम यूरिया, 8 किलोग्राम धनजाइम गोल्ड का उपयोग करे।

✅गेहूं की खेती में सिंचाई
👉गेहूं की खेती में सिंचाई प्रबंधन है जरूरी अधिक उपज के लिए गेहूं की फसल को पांच-छह सिंचाई की जरूरत होती है।
👉पानी की उपलब्धता, मिट्टी के प्रकार और पौधों की आवश्यकता के हिसाब से सिंचाई करनी चाहिए।
👉गेहूं की फसल के जीवन चक्र में तीन अवस्थाएं जैसे चंदेरी जड़े निकलना (21 दिन), पहली गांठ बनना (65 दिन) और दाना बनना (85 दिन) ऐसी हैं, जिन पर सिंचाई करना अतिआवश्यक है।
👉यदि सिचाई के लिए जल पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो तो पहली सिंचाई 21 दिन पर इसके बाद 20 दिन के अंतराल पर अन्य पांच सिंचाई करें।
👉नई सिंचाई तकनीकों जैसे फव्वारा विधि या टपका विधि भी गेहूं की खेती के लिए काफी उपयुक्त है।

✅गेहूँ की फसल में खरपतवार नियंत्रण -
👉गेहूँ की फसल में रबी के सभी खरपतवार जैसे बथुआ, प्याजी, खरतुआ, हिरनखुरी, चटरी, मटरी, सैंजी, अंकरा, कृष्णनील, गेहुंसा, तथा जंगली जई आदि खरपतवार लगते हैं।
👉इनकी रोकथाम निराई गुड़ाई करके की जा सकती है, लेकिन कुछ रसायनों का प्रयोग करके रोकथाम किया जा सकता है जो की निम्न है -

बीज के अंकुरण के पहले स्‍टॉम्‍प (पेंडीमेथालिन 30% ईसी) 1 लीटर - 200 लीटर पानी में घोल बनाकर एक एकड़ खेत में छिड़काव करे।
UPL Vesta (Clodinafop Propargyl 15% + Metsulfuron Methyl 1% WP) Dose - 160 ग्राम प्रति एकड़
धानुका बैरियर - 100 ग्राम प्रति एकड़

✅कटाई -
फसल पकते ही बिना प्रतीक्षा किये हुए कटाई करके तुरंत ही मड़ाई कर दाना निकाल लेना चाहिए, और भूसा व दाना यथा स्थान पर रखना चाहिए, अत्यधिक क्षेत्री वाली फसल कि कटाई कम्बाईन से करनी चाहिए इसमे कटाई व मड़ाई एक साथ ही जाती है जब कम्बाईन से कटाई कि जाती है।

आपको यह वीडियो 📷कैसा लगा यह हमें कमेंट में बताना न भूलें , और इस वीडियो को अपने अन्य 🧑‍🌾किसान मित्रों के साथ भी जरूर शेयर करें👍

✅हमारे अन्य सोशल मीडिया पेजेस -
👉भारतअ‍ॅग्री ऍप - http://bit.ly/2ZyV2yl
👉भारतअ‍ॅग्री कृषि दुकान - https://krushidukan.bharatagri.com/
👉फेसबुक हिन्दी - https://bit.ly/36KuGOe
👉फ़ेसबुक मराठी - https://bit.ly/36KuGOe
👉इंस्टाग्राम - https://bit.ly/3B9Ny8G
👉वेबसाइट - www.bharatagri.com
👉लिंक्ड इन - https://bit.ly/3TWtK0Z
👉भारतअ‍ॅग्री मराठी यूट्यूब चैनल - https://bit.ly/3Ryf3zt
👉भारतअ‍ॅग्री हिन्दी यूट्यूब चैनल - https://bit.ly/3L2cRxF

#bharatagri #agriculture #hindi #farming #bharatagrihindi #kisan #kheti #fasal

कमेंट करें

बेस्ट रिजल्ट के लिए बेस्ट जोडी